महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी करना स्वामी रामदेव को पड़ा भारी,आलोचना के बाद मांगी माफ़ी

महिलाओं पर अपनी टिप्पणी के 72 घंटे बाद विरोध व आलोचना होने पर योग गुरु स्वामी रामदेव ने खेद व्यक्त किया और माफी मांगी है।

महिलाओं पर अपनी टिप्पणी के 72 घंटे बाद विरोध व आलोचना होने पर योग गुरु स्वामी रामदेव ने खेद व्यक्त किया और माफी मांगी है।रामदेव ने महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष रूपाली चाकणकर को इस आशय का एक ईमेल भेजा है। आयोग ने शुक्रवार के पत्र लिखकर रामदेव से 72 घंटों के भीतर उनकी टिप्पणी के लिए स्पष्टीकरण मांगा था।
ई-मेल कर अपनी टिप्पणी के लिए मांगी माफ़ी 
महाराष्ट्र महिला आयोग की अध्यक्ष कहा कि रामदेव ने ई-मेल कर अपनी टिप्पणी के लिए खेद व्यक्त करते और माफी मांगी है, लेकिन यह भी कहा है कि उनकी टिप्पणी को संदर्भ से बाहर समझा गया।
चाकणकर ने चेतावनी देते हुए आईएएनएस से कहा, हमें नोटिस का जवाब मिल गया है, लेकिन अगर कोई और आपत्ति या शिकायत आती है, तो हम पूरी जांच करेंगे और पिछले सप्ताह आयोजित कार्यक्रम की पूरी वीडियो रिकॉडिर्ंग प्राप्त करेंगे।
महिलाओं के लिए की थी अभद्र टिप्पणी
गौरतलब है कि ठाणे में महिलाओं के लिए आयोजित योग प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बाबा रामदेव बाबा ने कहा था महिलाएं साड़ी में अच्छी लगती हैं, वे सलवार सूट में भी अच्छी लगती हैं, और अगर उन्होंने कुछ न पहना हो तो और अच्छी लगती हैं।
उस समय रामदेव के साथ मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के पुत्र बालासाहेबंची शिवसेना ठाणे के सांसद श्रीकांत शिंदे और भारतीय जनता पार्टी के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस और अन्य गणमान्य लोग भी थे।
रामदेव की इस टिप्पणी से महाराष्ट्र समेत देश के अन्य हिस्सो में हंगामा खड़ा हो गया। लोगों ने उनकी तीखी आलोचना की।संजय राउत, डॉ. मनीषा कयांडे, किशोर तिवारी, महेश तापसे, अपर्णा मलिकर, तृप्ति देसाई जैसी महिला कार्यकर्ताओं सहित विभिन्न दलों के नेताओं ने रामदेव से बिना शर्त माफी मांगने की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।