पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस को मिली जेड प्लस सिक्योरिटी, ये है बड़ी वजह

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने खुफिया एजेंसियों की ओर से दी गई खतरों की आशंका के मद्देनजर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस को ‘जेड प्लस’ श्रेणी सुरक्षा कवर दिया है

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने खुफिया एजेंसियों की ओर से दी गई खतरों की आशंका के मद्देनजर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस को ‘जेड प्लस’ श्रेणी सुरक्षा कवर दिया है। सीवी आनंद बोस को देशभर में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के कमांडो सुरक्षा मुहैया कराएंगे।
पश्चिम बंगाल के नए राज्यपाल के रूप में शपथ 
सेवानिवृत्त सिविल सेवक सीवी आनंद बोस ने बीते साल 23 नवंबर को पश्चिम बंगाल के नए राज्यपाल के रूप में शपथ ली थी। सूत्रों के मुताबिक, राज्यपाल बनने से पहले सीवी आनंद बोस पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा जांच समिति के सदस्य थे। सीवी आनंद बोस पूर्व भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी हैं। सीवी आनंद बोस ने शिक्षा, वन और पर्यावरण, श्रम और सामान्य प्रशासन जैसे विभिन्न मंत्रालयों में जिला कलेक्टर, प्रधान सचिव और अतिरिक्त मुख्य सचिव के रूप में काम किया है। 
देश में पांच कैटेगरी में मिलती है सुरक्षा
बता दें कि खतरों का आकलन करने के बाद सुरक्षा श्रेणी को पांच समूहों में विभाजित किया जाता है। इनमें X, Y, Z, Z+, SPG और अन्य सुरक्षा होती हैं। ऐसी सुरक्षा VIPs और VVIPs, एथलीटों, मनोरंजन करने वालों और अन्य हाई-प्रोफाइल या राजनीतिक हस्तियों के लिए होती है।
सुरक्षा कवच की उच्चतम श्रेणी
जेड प्लस केंद्रीय सुरक्षा कवच की उच्चतम श्रेणी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, Z+ कैटेगरी की सिक्योरिटी में कुल 58 जवानों की तैनाती होती है। इनमें 10 आर्म्ड स्टैटिक गॉर्ड, 6 PSO एक समय मे राउंड द क्लॉक, 24 जवान 2 एस्कॉर्ट में राउंड द क्लॉक, 5 वॉचर्स दो शिफ्ट में रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 4 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।