लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

यशवंत सिन्हा की मुर्मू से अपील उनकी ओछी मानसिकता को दर्शाती है – सीटी रवि

राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की ‘‘रबर स्टैंप राष्ट्रपति’’ टिप्पणी को लेकर उन पर पलटवार करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव सी. टी. रवि ने सोमवार को कहा कि उनके बयान से ऐसा लगता है कि एक जनजातीय महिला इस पद के लिए सक्षम नहीं है और यह उनकी ‘‘ओछी मानसिकता’’ को दर्शाता है।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की ‘‘रबर स्टैंप राष्ट्रपति’’ टिप्पणी को लेकर उन पर पलटवार करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव सी. टी. रवि ने सोमवार को कहा कि उनके बयान से ऐसा लगता है कि एक जनजातीय महिला इस पद के लिए सक्षम नहीं है और यह उनकी ‘‘ओछी मानसिकता’’ को दर्शाता है।
यशवंत सिन्हा की नरेंद्र मोदी से क्यों नहीं बनी? - BBC News हिंदी
सिर्फ खुद को योग्य महसूस करने की मानसिकता खतरनाक – सीटी रवि
सिन्हा ने चुनाव के लिए भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू से आग्रह किया था कि राजग की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार यह सुनिश्चित करें कि वह ‘‘रबर स्टैंप राष्ट्रपति’’ नहीं होंगी। मुर्मू ओडिशा के एक जनजातीय समुदाय से ताल्लुक रखती हैं। रवि ने कहा, ‘‘निश्चित रूप से देश को रबर स्टैंप राष्ट्रपति की जरूरत नहीं है, लेकिन उसी तरह स्वयं को साबित कर चुकी एक आत्मनिर्भर आदिवासी महिला के खिलाफ झूठा प्रचार करने की मानसिकता खतरनाक है। सिर्फ खुद को ही योग्य महसूस करने की मानसिकता खतरनाक है।’’
मुर्मू अपनी क्षमताओं को पहले ही साबित कर चुकी हैं 
Draupadi Murmu Education: जानिए कितनी पढ़ी-लिखी हैं भारत के राष्ट्रपति पद  की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू | TV9 Bharatvarsh
रवि ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘‘मुर्मू एक आदिवासी महिला हैं जिन्होंने झारखंड की राज्यपाल के रूप में, ओडिशा में एक मंत्री और विधायक के रूप में और एक कॉलेज में प्राध्यापक के रूप में अपनी क्षमताओं को पहले ही साबित किया है। यह सोच ही घटिया मानसिकता को दर्शाती है कि एक आदिवासी महिला पद के लिए सक्षम नहीं है।’’ रवि ने कहा कि मुर्मू वोट की अपील करने के लिए 10 जुलाई को कर्नाटक का दौरा करेंगी। उन्होंने यह भी कहा कि मौजूदा संख्या के आधार पर 18 जुलाई के राष्ट्रपति चुनाव में उनकी जीत निश्चित है।
ईडी या आयकर कुछ नही कर सकते लेकिन भ्रष्ट उनसे नही बच सकते 
अपने चुनाव प्रचार अभियान के तहत रविवार को बेंगलुरु में मौजूद सिन्हा ने यहां कांग्रेस विधायक दल की बैठक में भाग लिया और भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर राजनीतिक विरोधियों को ‘‘चुप’’ कराने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई), आयकर जैसी एजेंसियों का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए चिकमगलूर के विधायक रवि ने कहा, ‘‘ईडी या आयकर विभाग ईमानदार लोगों का कुछ नहीं कर सकते, लेकिन भ्रष्ट लोग उनसे बच नहीं सकते। अगर कोई भ्रष्ट है, तो उसे चिंता करने की जरूरत है। ईमानदार लोगों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है।’’
जद -एस का मुर्मू को समर्थन करने पर स्वागत
उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव में मुर्मू को समर्थन देने की जनता दल-सेक्युलर (जद-एस) की योजना का भी स्वागत किया। पूर्व प्रधानमंत्री एच. डी. देवेगौड़ा के नेतृत्व वाली क्षेत्रीय पार्टी मुर्मू को पहले ही समर्थन का संकेत दे चुकी है।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + 8 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।