लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पंजाब में फसल क्षति का आकलन एक सप्ताह में पूरा करने के दिए निर्देश

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सोमवार को कहा कि उन्होंने राज्य में हाल में हुई बारिश के कारण फसल को हुए नुकसान का आकलन करने के लिए एक विशेष गिरदावरी (खेत निरीक्षण) करने के निर्देश दिये हैं।

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सोमवार को कहा कि उन्होंने राज्य में हाल में हुई बारिश के कारण फसल को हुए नुकसान का आकलन करने के लिए एक विशेष गिरदावरी (खेत निरीक्षण) करने के निर्देश दिये हैं। मान ने अधिकारियों को एक सप्ताह के भीतर कार्य पूरा करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि फसल नुकसान का मुआवजा देने के लिए धन की कोई कमी नहीं है।
Up to 20 applications for crop damage - फसल क्षति के लिए 20 तक होगा आवेदन
मुख्यमंत्री ने रविवार को राज्य के मोगा, मुक्तसर, बठिंडा और पटियाला जिलों में बारिश से प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया था। बेमौसम बारिश के साथ ओलावृष्टि और तेज हवाओं के कारण राज्य के कई हिस्सों में गेहूं और अन्य फसलों को नुकसान पहुंचा है। मान ने सोमवार को एक वीडियो संदेश में कहा, ‘‘पिछले कुछ दिनों में पंजाब में कई स्थानों पर बारिश, ओलावृष्टि और तेज हवाओं ने फसलों को व्यापक नुकसान पहुंचाया है।’’
Only 75 percent farmers got the amount of crop damage - 75 फीसदी किसानों को  ही मिली फसल क्षति की राशि
उन्होंने कहा कि घरों को भी कुछ नुकसान हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने प्रभावित किसानों से मुलाकात की और देखा कि मोगा, मुक्तसर, बठिंडा और पटियाला के गांवों में फसलों को, विशेषकर गेहूं की फसल को नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि कई स्थानों पर गेहूं की खड़ी फसल चौपट हो गई है। उन्होंने कहा कि जिन किसानों की फसल खराब मौसम के कारण बर्बाद हुई है, उन्हें मुआवजा दिया जाएगा।
वर्षा, जलभराव व कीट-रोगों से हुए फसल नुकसान का मुआवजा देने के लिए 561 करोड़  रुपये की राशि स्वीकृत - Kisan Samadhan
उन्होंने कहा कि 75 से 100 प्रतिशत फसल नुकसान होने पर 15 हजार रुपये प्रति एकड़ मुआवजा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुआवजे में 25 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। उन्होंने कहा कि पहले मुआवजा राशि 12,000 रुपये प्रति एकड़ थी। मान ने कहा कि 33 से 75 प्रतिशत फसल नुकसान होने पर 5400 रुपये प्रति एकड़ की तुलना में 6750 रुपये मुआवजा दिया जायेगा। मान ने कहा कि उन्होंने सभी उपायुक्तों को फसल नुकसान के आकलन के लिए विशेष गिरदावरी कराने और एक सप्ताह के भीतर कार्य पूरा करने के निर्देश जारी किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 5 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।