‘PAK के साथ व्यापार संबंधी कोई भी बातचीत करना बेकार और व्यर्थ’ सिद्धू के बयान पर मनीष तिवारी का जवाब

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान के साथ व्यापार खोलने की वकालत की। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के साथ फिर से व्यापार शुरू होना चाहिए।

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान के साथ व्यापार खोलने की वकालत की। सिद्धू ने कहा कि पाकिस्तान के साथ फिर से व्यापार  शुरू होना चाहिए। सिद्धू के इस बयान पर कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की और आतंकी गतिविधियों पर रोक नहीं लगने तक व्यापार संबंधी कोई भी बातचीत करना बेकार और व्यर्थ है। 
मनीष तिवारी ने रविवार को कहा, जब तक पाकिस्तान भारत में आतंकवादियों को भेजना बंद नहीं करता और ड्रोन के माध्यम से हमारे क्षेत्रों में ड्रग्स और हथियार गिराना बंद नहीं करता, तब तक पाकिस्तान के साथ व्यापार संबंधी कोई भी बातचीत करना बेकार और व्यर्थ है। 
सिद्धू ने फिर की पाकिस्तान की वकालत
शनिवार को अमृतसर में बोलते हुए सिद्धू ने कहा कि भारत-पाकिस्तान व्यापार और इन 34 देशों का दायरा 37 बिलियन अमेरिकी डॉलर हैं। अभी हम केवल तीन बिलियन डॉलर का व्यापार कर रहे हैं, जो क्षमता का पांच फीसदी भी नहीं है। उन्होंने कहा कि पंजाब को पिछले 34 महीनों में चार हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। इस दौरान 15 हजार नौकरियां चली गई हैं। 
भारत-पाकिस्तान व्यापार को लेकर सिद्धू ने कहा कि मैंने पहले भी गुजारिश की थी और मैं एक बार फिर से गुजारिश कर रहा हूं कि व्यापार को फिर से शुरू किया जाए। इससे सभी को फायदा होगा। इसके साथ ही सिद्धू ने कहा था कि वह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को बहुत पसंद करते हैं, जिन्होंने भारत से पाकिस्तान के लिए अमन-ईमान बस सेवा शुरू कराई थी। 
मुंबई-कराची सीमा पर व्यापार हो सकता है तो अमृतसर-लाहौर सीमा क्यों बंद 
नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, ‘अगर यूरोप में दूसरे विश्वयुद्ध के बाद सीमाएं खोली जा सकती हैं तो यहां क्यों नहीं? सिद्धू ने कहा कि सरहदों पर चौकसी बरती जाए लेकिन मुंबई-कराची सीमा पर व्यापार हो सकता है तो अमृतसर-लाहौर सीमा पर व्यापार बंद क्यों कर दिया गया है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × two =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।