‘एक परिवार, एक टिकट’ के सिद्धांत का पालन करेगी शिअद, अध्यक्ष को मिलेंगे बस दो कार्यकाल

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) चुनावों में अब ‘एक परिवार, एक टिकट’ सिद्धांत का पालन करेगा तथा सुनिश्चित करेगा कि उसके आधे उम्मीदवार 50 से कम उम्र के हों।

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने पार्टी में संगठनात्मक सुधारों की घोषणा की है। जिसके बाद शिअद चुनावों में अब ‘एक परिवार, एक टिकट’ सिद्धांत का पालन करेगा तथा सुनिश्चित करेगा कि उसके आधे उम्मीदवार 50 से कम उम्र के हों। 
पार्टी अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने शुक्रवार को कहा कि यदि अगले चुनाव में शिअद सत्ता में आता है तो राज्य एवं जिला स्तर पर बोर्डों के अध्यक्ष पद पार्टी कार्यकर्ताओं को मिलें। उन्होंने कहा कि सांसदों एवं विधायकों के परिवारों के सदस्यों पर इन पदों के लिए विचार नहीं किया जाएगा। 

AAP विधायक को पति ने सबके सामने मारा थप्पड़, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

उन्होंने कहा कि पार्टी अध्यक्ष पांच-पांच साल के लगातार दो कार्यकाल के लिए पात्र होगा और फिर उसे एक कार्यकाल के लिए अवकाश लेना होगा। उन्होंने कहा, ‘‘इससे शीर्ष स्तर पर नया नेतृत्व आएगा।’’ हालांकि पार्टी के एक नेता ने कहा कि नये बदलाव केवल तभी प्रभाव में आयेंगे जबकि शिअद के संविधान में औपचारिक बदलाव किया जाएगा। 
सुखबीर सिंह बादल 2008 से शिअद के अध्यक्ष हैं। उनसे पहले उनके पिता और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के पास यह पद था। सुखबीर सिंह बादल ने एक महीने पहले एक समिति की सिफारिश पर शिअद संगठन को भंग कर दिया था । समिति ने चुनाव में पार्टी की हार के कारणों का विश्लेषण किया था। 
शिअद ने फरवरी में विधानसभा चुनाव में कुल 117 में से महज तीन सीटें जीती थीं। सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि पार्टी में चुनाव के माध्यम से 30 नवंबर तक संगठन का पुनर्गठन किया जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।