ज्ञानी गुरमुख सिंह जी को खत्म कर देने की दी गई धमकी

NULL

लुधियाना-अमृतसर  : तख्त श्री दमदमा साहिब के पूर्व कार्यकारी जत्थेदार ज्ञानी गुरमुख सिंह जी को किसी डेरा प्रेमी शख्स द्वारा जान से मार देने का पत्र लिखा गया है, जिसमें लिखा है कि अगर उनमें हिम्मत है तो वह सिरसा में समागम करके दिखाएं अन्यथा वह डेरे आकर अपनी गलतियों की माफी मांगे। उक्त जानकारी ज्ञानी गुरमुख सिंह जी ने स्वयं शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी और पुलिस को दी है। पत्र में तख्त श्री दमदमा साहिब के  जत्थेदार रहते गुरमुख सिंह द्वारा डेरा सिरसा के नामचर्चा समागम रोके जाने का विशेष जिक्र करके जान से मार देने की धमकी दी गई है। ज्ञानी गुरमुख सिंह वर्तमान समय में हरियाणा के गुरूद्वारा धमधाम साहिब में मुख्य ग्रंथी के तौर पर डयूटी निभा रहे है। उन्होंने कहा कि दमदमा साहिब के जत्थेदार के तौर पर रहते उन्होंने अपना फर्ज पूरा किया था और हमेशा करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि पत्र द्वारा धमकी देकर उक्त डेरे वालों के शिष्यों ने सिर्फ मुझे ही नही बल्कि पूरे सिख पंथ को चुनौती दी है। उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे पंथ विरोधी ताकतों से निपटने के लिए समूचे पंथ को एक प्लेटफ ार्म पर इकटठे हो जाने का संदेश दिया है।

– सुनीलराय कामरेड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen − six =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।