लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

भूल से भी देवउठनी एकादशी पर नहीं करने चाहिए ये 5 काम, नहीं तो होंगी ये परेशानियां

इस बार देवउठनी का पर्व 8 नवंबर के दिन मनाया जाएगा। यह त्योहार हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन मनाया जाता है।

इस बार देवउठनी का पर्व 8 नवंबर के दिन मनाया जाएगा। यह त्योहार हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन मनाया जाता है। इस दिन भगवान विष्णु अपनी लंबी निद्रा से जगते हैं और सारा काम संभालते हैं। इस वजह से इस खास दिन भगवान विष्णु की पूजा विधि-विधान से की जाती है।
1573111719 1573021560 images (4)
 मान्यता यह भी है देवउठनी के दिन विष्णु भगवान की पूजा करने से जिंदगी के सभी कष्टों से छुटकारा मिल जाता है। इस दिन से सभी शुभ मांगलिक कार्यों की शुरूआत हो जाती है। तो आइए जानते हैं कि देवउठनी के दिन ऐसे कौन से कार्य हैं जिन्हें करने से हमेशा बचना चाहिए। 
1573111725 1573021525 i9hl6
1.दीपदान करना शुभ
शास्त्रों में ऐसा बताया गया है कि देवउठनी एकादशी भगवान विष्णु के शालिग्राम रूप और देवी वृंदा मतलब तुलसी के विवाह का दिन होता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना पूरी विधि-विधान से की जानी चाहिए। इस खास दिन पर रात के समय अखंड दीपक जलाएं साथ ही घर की छत पर कुछ दीपक और भी जलाएं। ध्यान रखें इस रात घर के किसी भी कोने में अंधेरा नहीं होना चाहिए। महत्वपूर्ण बात यह भी है इस दिन दीपदान करने से सुख समृद्घि में वृद्घि होती है।
1573111748 images
2.नहीं तोडऩा चाहिए तुलसी का पत्ता
एकादशी तारीख विशेषतौर पर देवोत्थान एकादशी के दिन तो गलती से भी तुलसी का पत्ता नहीं तोडऩा चाहिए। क्योंकि इस दिन माता तुलसी और भगवान विष्णु के शालिग्राम रूप का विवाह होता है। इस दिन देवी तुलसी को लाल चुनरी भी जरूर उड़ानी चाहिए साथ ही तुलसी के पौधे के नीचे दीया जलाना चाहिए। 
1573111775 images (1)
3.चावल का प्रयोग है वर्जित
शास्त्रों में एकादशी के दिन चावल या चावल से बनी चीजों को खाने को मना किया जाता है। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन चावल खाने वाला इंसान रेंगने वाले जीव की योनि में पैदा होता है। वहीं द्वादशी को चावल खाने से इस योनि से छुटकारा मिल जाता है। 
1573111807 wholesale best quality jasmine rice
4.नहीं करना चाहिए तामसिक पदार्थ का सेवन
भगवान विष्णु जी को एकादशी का व्रत सबसे ज्यादा प्रिय होता है। पुराणों में ऐसा कहा गया है कि इस दिन जो लोग व्रत नहीं भी कर रहे उन लोगों को प्याज,लहसुन,मांस,अंडे जैसे तामसिक पदार्थ का सेवन करने से परहेज करनी चाहिए। इस दिन शारीरिक संबंध रखना भी बिल्कुल अच्छा नहीं माना जाता है। जो भी इन नियमों का पालन नहीं करता उन्हें यमराज का कठोर दंड भोगना पड़ता है।
1573111829 images (2)
5.ऐसा करने से हो सकती है लक्ष्मी मां नाराज
एकादशी के दिन अपने मन को शांत रखें और कोशिश करें किसी भी हालात में बुजुर्गों का अनादर नहीं करें। हिंदू धर्म में एकादशी को सबसे ज्यादा पवित्र माना जाता है।
1573111858 images (3)
 ऐसा कहा जाता है इस खास दिन घर में सुख-शंति का सद्भाव बनाए रखने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है। इसलिए गलती से भी आप शुद्घ वातावरण को दूषित न करें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × one =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।