इस 19 साल के बेटे के पिता जिस होटल में गार्ड थे, उसी में वह मेहमान बनाकर ले गया - Latest News In Hindi, Breaking News In Hindi, ताजा ख़बरें, Daily News In Hindi

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

इस 19 साल के बेटे के पिता जिस होटल में गार्ड थे, उसी में वह मेहमान बनाकर ले गया

हर माता-पिता अपने बच्चों की जिंदगी को संवारने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। हर माता-पिता यही चाहते हैं कि उनके जीवन में जो कठिनाइयां आईं हैं

हर माता-पिता अपने बच्चों की जिंदगी को संवारने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। हर माता-पिता यही चाहते हैं कि उनके जीवन में जो कठिनाइयां आईं हैं वह उनके बच्चों के जीवन में ना आएं। अपने बच्चे को जिंदगी की हर खुशी पाते हुए मां-बाप देखना चाहते हैं।
1574152817 aryan
ऐसा ही एक 19 साल का बेटा है जिसने अपने सपनों को पूरा किया और अब वह अपने माता-पिता के सपनों को पूरा रने में लगा हुआ है।  लोगों को जब इस बेटे की कहानी पता चली तो उनको इस पर बहुत नाज हुआ। 
अखबार बेचते थे पापा…

1574152443 aryan with parents
19 साल का आर्यन जिसे आसमान से मोहब्बत बचपन से ही है। उसे तारों और अंतरिक्ष में बहुत दिलचस्पी थी। आर्यन के पापा चौकीदार थे और वह अखबार भी बेचते थे। इनका घर बहुत छोटा था। आर्यन की मां एक हाउस हैं। आर्थिक स्थिति आर्यन के घर कुछ खास अच्छी नहीं थी। आर्यन के बस्ती में ही एक छोटा सा प्राइवेट स्‍कूल था जिसमें वह पढ़ता था। आर्यन में बचपन से ही सपनों को पूरा करने का एक जुनून था। 
मोहब्‍ब्त हुई जब अंतरिक्ष से 
एक अखबार से बात करते हुए आर्यन ने बताया कि सबसे खूबसूरत बात उन्‍हें वहां की लगती थी कि किसी भी स्ट्रीट लैंप या ऊंची इमारतों ने आकाश में चमकते सितारे देखने से मुझे रात में नहीं रोका। अंतरिक्ष को जानने की उत्सुकता आर्यन को 10 साल की उम्र में हुई थी। 

उसके बाद अपने स्कूल की एस्ट्रोनॉमी वर्कशॉप में आर्यन ने एक साल बाद दाखिला ले लिया था। आर्यन आगे बताते हैं कि शनि ग्रह के खूबसूरत रिंग्स को जब मैंने उस दिन टेलीस्कोप से देखा तो उस दौरान मुझे पता चला कि मैं अपनी जिंदगी में क्या करना चाहता हूं। 
4 दिन तक बात नहीं की मां-बाप ने 
एन्ट्रोनॉमर बनने की बात जब आर्यन ने अपने माता-पिता को बताई तो उन्हें यह कैरियर के तौर पर सही नहीं लगा। लेकिन आर्यन के अंदर यह सपना बनता गया। आर्यन ने 5000 रूपए तक का एक टेलीस्कोप लेने के लिए पैसे बचाने शुरु कर दिए।
1574152650 aryan with akshay kumar
टेलीस्कोप लेने के लिए खाना आर्यन ने छोड दिया वह स्कूल भी पैदल जाने लग गया। हालांकि टेलीस्कोप जब आर्यन ने खरीदा तो उसके माता-पिता को लगा कि यह बिल्कुल ही बेकार है इसका कुछ काम नहीं है। इसी वजह से उन्होंने 4 दिन तक आर्यन ने बिलकुल बात नहीं की। 
एक Asteroid  जब ढूंढ लिया
टेलीस्कोप लेने के बाद से आसमान को ही आर्यन देखता रहता था। इतना ही नहीं एक Asteroid आर्यन ने 14 साल की उम्र मंे ढूंढ लिया था। आर्यन की खोज की खबरें कुछ दिन बाद अखबारों में छप गई थी। आर्यन की यह खबर देकर उसके पिता दंग रह गए। 
1574152693 aryan asteorid
दरअसल आर्यन पहला लड़का था बस्ती का जिसका अखबार में नाम आया था। फिर क्या था लेक्चर के लिए कई विश्वविद्यालयओं से आर्यन को निमत्रंण आने शुरु हो गए। आर्यन ने 30 हजार रुपए पहले महीने में कमाए। आर्यन पैसे कामने के साथ अपनी पढ़ाई भी करता था। 
मां-बाप को विमान में बैठाया पहली बार

1574152724 aryan
आर्यन की उम्र अब 19 साल की हो गई है। आर्थिक रूप से भी वह अब मजबूत हो गया है। आर्यन हाल ही में बनारस से वापस आ रहा था। तो अपने माता-पिता को वह ट्रेन की बजाए विमान से लेकर आया। पहली बार आर्यन के माता-पिता प्लेन में बैठे थे। साथ ही एक महंगे रेस्ट्रोरेंट में अपने माता-पिता को आर्यन लेकर गया और उन्हें खाना अपने पैसों से खिलाया।
यह सपना करेगा अब पूरा

1574152757 aryan astronout
आर्यन ने आगे कहा कि आने वाला जनवरी का महिना उनके लिए बहुत ही स्पेशल है। दरअसल वह उस होटल में अपने माता-पिता को ठहराएगा जिसमें उसके पिता चौकीदार की नौकरी करते थे। यह लम्हें बहुत ही छोटे लगते हैं लेकिन इनकी खुशी बहुत ही बड़ी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।