नहीं हैं दूध खरीदने के लिए पैसे, मां मासूम बच्ची को 8 महीने से पिला रही है कॉफी

इंडोनेशिया से एक दिल दहला देने वाली मासूम बच्ची की खबर ने सभी हो हैरान कर दिया है। इस बच्ची के माता-पिता गरीब बताए जा रहे हैं।

इंडोनेशिया से एक दिल दहला देने वाली मासूम बच्ची की खबर ने सभी हो हैरान कर दिया है। इस बच्ची के माता-पिता गरीब बताए जा रहे हैं। आलम ये है कि इन लोगों के पास दूध खरीदने तक के लिए पैसे नहीं हैं। इसलिए मां अपनी बच्ची को बीते 8 महीने से दूध की बजाय कॉपी पिला रही है। बच्ची अभी महज 14 महीने की है।
1568976996 rajat fulara cofee
 
मासूम हर दिन 1.5 लीटर पी जाती है कॉफी
इस बच्ची का नाम हदिजा हउरा है। यह फैमिली पश्चिमी सुलेवेसी प्रांत के रहने वाले हैं। ये बच्ची हर रोज 3 बेबी बॉट्ल कॉफी पीती है। मतलब ये 1.5 लीटर हुई। जो शरीर के लिए हानिकारक है। हदिजा की मां बताती है कि वह अपनी बच्ची को तब से कॉफी पिला रही है जब वो 6 महीने की थी। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि हदिजा हर रोज कितनी ज्यादा मात्रा में कैफीन का सेवन कर रही है।
1568977008 hadija1
इस बीच हैरान कर देने वाली बात यह है कि हदिजा बिल्कुल स्वस्थ है। उसे कोई गंभीर स्वास्थ्य परेशानी नहीं है। हदिजा के माता-पिता इस बात से पूरी तरह वाकिफ हैं कि कॉफी बच्ची की सेहत से लिए सही नहीं है लेकिन पैसे ना होने की वजह से उन्हें ऐसा करना पड़ रहा है। 
1568977301 parents
हदिजा की मां अनिता का कहना है कि हमारे पास कोई और विकल्प नहीं है। हम लोगों की इतनी ज्यादा कमाई नहीं है कि हम दूध खरीद सके। इसलिए हम अपनी बच्ची को मजबूरी में कॉफी देते हैं। जब उसका पेट नहीं भरता है तो वहो रात को सो नहीं पाती है।
1568977014 hadija
रोज होती है 100 रुपए की कमाई
रिपोट्स के अनुसार अनिता और उसके पति सरफुद्दीन एक दिन में मात्र 100 रुपए ही कमा पाते हैं। दोनों पति-पत्नी एक बगान में नारियल छीलने का काम करते हैं। कई बार तो उनके पास काम भी नहीं होता,इसलिए पैसों की तंगी में वह अपनी मासूम बच्ची को पानी में सस्ती कॉफी और चीनी मिलाने को पिलाने के लिए मजबूर है। अब रोज कॉफी पीते-पीते हदिजा भी कॉफी की आदि हो चुकी हैं। 
1568977327 baby
5 साल से छोटे बच्चे को न दे कॉफी
डॉक्टर्स के अनुसार कॉफी कुपोषण की वजह बन सकता है। पांच साल से कम उम्र के बच्चों के लिए कैफीन का सेवन करना शरीर के लिए हानिकारक होता है। यह शक्तिशाली उत्तेजक के तौर पर काम करता है। ये खुद हदिजा ने माता-पिता ने मान लिया है कि उनकी बेटी देर रात सोती नहीं है बल्कि खेल में लगी रहती है। 
1568977061 cofeehouses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − 7 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।