लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

सीढ़ियों से जुड़ी होती है घर की इनकम, बढ़ जाती है कंगाली अगर सीढ़ियों के नीचे रखा ये सामान

कभी भी घर, आफिस या दुकान बनाते समय वास्तु के नियमों को नजर अंदाज नहीं करना चाहिए। ऐसा करने पर तमाम तरह के वास्तु दोष झेलने पड़ सकते है।

कभी भी घर, आफिस या दुकान बनाते समय वास्तु के नियमों को नजर अंदाज नहीं करना चाहिए। ऐसा करने पर तमाम तरह के वास्तु दोष झेलने पड़ सकते है। खास कर घर बनाते समय तो जरुर ही ध्यान देना चाहिए। माना जाता है कि वास्तु सही नहीं होने से नकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है। इसके मुताबिक घर के प्रत्येक हिस्से का अपना एक अलग महत्व होता है। 
वास्तु विज्ञान में इस बात को बताया गया है कि घर का कौन-सा कोना किस तरह के फल देने वाला होता है। वास्तु के मुताबिक किसी भी घर की उन्नति का सीधा संबंध सीढ़ियों से होता है। हालांकि, अधिकांश समय में लोग सीढ़ियों के निर्माण के वक्त ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं।
वास्तु विशेषज्ञों के अनुसार जिन घरों में सीढ़ियां गलत जगह पर होती हैं, वहां दिक्कतें अचानक ही पैदा होने लगती हैं। उनके मुताबिक घर के अंदर की सीढ़ियां मंगल ग्रह को प्रभावित करती हैं, जबकि बाहर की सीढ़ियों का संबंध शुक्र ग्रह से होता है। आज हम बताएंगे कि घर की सीढ़ियों के नीचे कौन-सा सामाननहीं रखना चाहिए।
  1653897750 1
अधिकतर लोग सीढ़ियों के नीचे ही पूजा स्थान बना लेते हैं। लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। दरअसल, सीढ़ियों पर हम पैर रखकर चढ़ते हैं। इसका अर्थ यह हुआ कि आप अपने आराध्य पर पैर चढ़कर आगे बढ़ रहे हैं, जो किसी भी लिहाज से उचित नहीं है।
जिन घरों में लोग पेट्स को पालते हैं। वह अक्सर सीढ़ियों के नीचे के स्थान को पालतू के लिए बना देते हैं। वहां पर उनका छोटा सा हाउस बनाते हैं या फिर वहां पर उन्हें बांधते हैं। लेकिन आपको ऐसा नहीं करना चाहिए।
सीढ़ियों के नीचे एक टॉयलेट एक नेगेटिव टॉयलेट होता है और अगर इसका इस्तेमाल किया जाता है, तो इससे घर में बीमारियां फैलती हैं। ऐसे घरों में लोग अक्सर बीमार ही रहते हैं।
बच्चों की पढ़ाई का संबंध मां सरस्वती से हैं और इसलिए वहां पर बच्चों की स्टडी टेबल रखना भी अच्छा विचार नहीं है। अगर आप वहां पर स्टडी टेबल रखते हैं, तो इससे बच्चों को पढ़ाई में मन लगाने में समस्या होती है। यह देखने में आता है कि इस स्थान पर स्टडी टेबल होने पर बच्चों को कंसर्टेशन करने में दिक्कत आती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 + one =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।