Search
Close this search box.

शाहिद अफरिदी के बात पर आग बबुला हुए अहमद शहजाद, दिया मुंह तोड़ जवाब

दरअसल इस टीवी शो के दौरान पीएसएल के ऊपर चर्चा चल रही थी, तभी अफरीदी ने कह दिया कि अहमद को मेरे कारण निशाने पर लिया गया था.

क्रिकेट के इतिहास में हमने कई सारी लड़ाईयां देखी है. फील्ड पर दो देश के खिलाड़ियों के बीच में झगड़ा-झंझट होना आम बात है. इस मामले में भारत के मोस्ट एग्रेसिव बल्लेबाज विराट कोहली बहुत फेमस है. उनके अलावा पूर्व ओपनर गौतम गंभीर भी इस मामले में आगे रहते थे जो विपक्षी टीम के खिलाड़ियों से भिड़ जाया करते थे. पर इस झगड़े में ऐसा ही कोई मौका आया होगा जब एक ही देश के दो खिलाड़ी आपस में भिड़ गए हों. लेकिन आज एक ऐसा नजारा हमें देखने को मिला, जिसे देखकर आप भी सोच में पड़ जाएंगे कि ऐसा कैसे हो सकता है. और इसमें सबसे बड़ी बात यह हुई कि ये कोई ऑन फील्ड लड़ाई नहीं थी बल्कि ऑफ द फील्ड की लड़ाई हुई जिसे पूरे देश ने देखा, क्योंकि यह एक लाइव शो था.
1659173751 1
जी हां, बात है पाकिस्तान के पूर्व आतिशी खिलाड़ी शाहिद अफरीदी और पूर्व ओपनर अहमद शहजाद की. दोनों एक लाइव शो के दौरान आपस में भिड़ गए, जब अफरीदी ने कुछ ऐसा कह दिया जिससे शहजाद आग बबूला हो उठे. दरअसल इस टीवी शो के दौरान पीएसएल के ऊपर चर्चा चल रही थी, तभी अफरीदी ने कह दिया कि अहमद को मेरे कारण निशाने पर लिया गया था. मैंने उसको काफी समर्थन किया था और कई मौके दिए थे, जो उसके लिए निगेटिव चला गया, जब मैंने कप्तानी छोड़ी तब मुझे लगता है कि लोगों ने ऐसा सोचा था कि शहजाद मेरा फेवरेट है. मैंने उसका साथ इसलिए दिया था क्योंकि मुझे उसके जितना अच्छा ओपनर नहीं मिल रहा था. वह अच्छा प्रदर्शन भी कर रहा था. हां, वह सभी मैचों में परफॉर्म नहीं कर पाया लेकिन उसको मेरी वजह से निशाना बनाया गया.
1659173760 2
इसी बात पर शहजाह को गुस्सा आ गया और वो भी अफरीदी के मुंह तोड़ जवाब देने से नहीं चूके, उन्होंने कहा कि मैं रन बनाना चाहता था, लेकिन यह मत कहिए कि मुझे परफॉर्म करने के लिए प्लेटफार्म नहीं मिला. मैं आपसे पूछता हूं कि जब मुझे PSL की कोई टीम चुनना चाहती थी तो कौन उन्हें रोक रहा था. आप बताइए मैं कहां रन बनाता अपने घर में? 
मामला इतना बढ़ गया कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष रमिज राजा को बीत में आना पड़ा. उन्होंने इस मामले को पहले जाना और फिर मीडिया के सामने आकर बताया कि ये कोई बड़ा मामला नहीं है और नाही दोनों के बहस के पीछे कोई खास कारण है. यह खिलाड़ियों का फ्रसट्रेशन है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × two =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।