अफरीदी के विवादित बयान पर हरभजन सोशल मीडिया पर हो रहे हैं जमकर ट्रोल

अफरीदी के इस बात पर भारत के पूर्व स्पिनर ने कोई जवाब नहीं दिया और उल्टा उनके बातों पर हंसते दिखे. जिसके बाद उन्हें सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया गया.

भारत-पाकिस्तान के बीच का महा मुकाबला हो चुका है, जिसमें भारत ने पाकिस्तान को 5 विकेट से हरा दिया और क्रिकेट फैंस के अनुसार विश्व कप के हार का बदला भारत ने ले लिया. हालांकि हमने ऐसा पहली बार देखा जब भारत-पाकिस्तान के बीच मैच शांतिपूर्ण तरीके से हुआ हो. पर फिर भी दोनों देश के पूर्व क्रिकेटर कहीं ना कहीं एक दूसरे के ऊपर टांट कसने से नहीं चूके. 
1661845300 1
हमने एक टीवी चैनल पर देखा कि शाहिद अफरीदी और हरभजन सिंह भारत-पाक के मैच से पहले और बाद भी जुड़े थे. जिस पर चर्चा दोनों देश के बीच के लड़ाई कटाक्ष को लेकर ही चल रही थी. जिस पर अफरीदी, जोकि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े हुए थे, उन्होंने गौतम गंभीर को लेकर कहा कि ‘ऐसा नहीं है कि मेरी किसी भारतीय खिलाड़ी से लड़ाई रही है. हां, कुछ मौकों पर गौतम गंभीर के साथ सोशल मीडिया पर लड़ाई हुई है. और मुझे लगता है कि गौतम गंभीर ऐसा कैरेक्टर है, जिसे भारतीय टीम में भी कोई पसंद नहीं करता है.
1661845313 2
अफरीदी के इस बात पर भारत के पूर्व स्पिनर ने कोई जवाब नहीं दिया और उल्टा उनके बातों पर हंसते दिखे. जिसके बाद उन्हें सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया गया. लोगों ने कमेंट के जरिए उन्हें जमकर लताड़ा. एक ने हरभजन को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आप हमेशा अफरीदी के बातों को पसंद करते है, पर मैं आपको बता दूं कि भारतीय टीम का तो पता नहीं, पर भारतीय फैंस आपसे ज्यादा गंभीर को पसंद करते है. 
1661845321 3
एक ने लिखा कि भज्जी आम आदमी पार्टी से सांसद है और गंभीर बीजेपी से, इसलिए वो अफरीदी को सपोर्ट कर रहे हैं. इससे यह साफ हो जाता है कि आप समर्थक बीजेपी को हेट करने में पाकिस्तान तक को सपोर्ट कर सकते हैं.
1661845328 4
तो ऐसी-ऐसी बातें होनी शुरू हो गई है. हालांकि सबका यहीं माना है कि अगर अफरीदी ने इस बात को फिर से उजागर किया है तो भज्जी को इसे बस सुनकर नहीं रह जाना चाहिए बल्कि उन्हें मुंह-तोड़ जवाब देना चाहिए, जोकि उन्होंने नहीं किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।