ऑक्सीजन पर UP सरकार के दावे पर बोले अखिलेश-केवल झूठ बोलना जानते हैं मुख्यमंत्री जी

ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत नहीं होने के योगी सरकार के दावे पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पलटवार किया।

उत्तर प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत नहीं होने के योगी सरकार के दावे पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पलटवार किया। उन्होंने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रदेश की बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा। सपा प्रमुख ने कहा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर झूठ बोलने का आरोप लगाया।
अखिलेश यादव ने कहा, यूपी किन क्षेत्रों में पहले नंबर पर है? यूपी में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस नहीं बल्कि ईज ऑफ डूइंग क्राइम है। सड़कों की हालत देखिए। उदघाटन के लिए नवनिर्मित सड़क पर नारियल फोड़ेंगे तो नारियल नहीं टूटेगा, सड़क टूट जाएगी।
उन्होंने कहा, जो लोग यूपी को नंबर 1 बनाने का दावा करते हैं, वे वास्तव में हिरासत में होने वाली मौतों, भूख सूचकांक, किसान आत्महत्या, सार्वजनिक उद्यमों और बैंकों को बेचने और जीवित गायों को दफनाने में शीर्ष स्थान पर ले गए हैं। क्या कोई कल्पना कर सकता है कि जीवित गायों को दफनाया जा सकता है?

उत्तर प्रदेश: योगी सरकार का दावा- कोरोना महामारी की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई कोई मौत

विधान परिषद में योगी सरकार के दावे पर सपा प्रमुख ने कहा, जनता समाजवादी पार्टी के साथ खड़ी है। बीजेपी ने जनता को सिर्फ दिक्कत, ज़िल्लत और किल्लत दी है। योगी सरकार कहती है कि ऑक्सीजन की कमी से किसी की मृत्यु नहीं हुई है। मुख्यमंत्री जी केवल झूठ बोलना जानते हैं।
उन्होंने कहा, बीजेपी से ज्यादा झूठ बोलने वाली सरकार कोई और हो ही नहीं सकती। ऑक्सीजन की कमी से लोग भागते रहे। जिन्होंने कोरोना में अपनों को गंवाया है, वो बताएंगे। लोग भागते रहे ऑक्सीजन के लिए।
कांग्रेस विधायक दीपक सिंह के एक साल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने बताया कि राज्य में कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी के चलते किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई है। सरकार ने कहा कि मृत्यु प्रमाण पत्र में बीमारी के कारण मरने वाले 22,915 रोगियों में से किसी में भी ‘ऑक्सीजन की कमी के कारण मृत्यु’ का कोई उल्लेख नहीं है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen + sixteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।