स्वामी प्रसाद मौर्य पर दर्ज हुआ मामला तो भड़के सपा प्रमख अखिलेश, कहा – बीजेपी किसी पर भी केस कर सकती है

बीते कुछ समय से सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य श्री रामचरितमानस के बारे में काफी कुछ विवादास्पद कहने के लिए चर्चा में रहे हैं। समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव उनका बचाव कर रहे हैं

बीते कुछ समय से सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य श्री रामचरितमानस के बारे में काफी कुछ विवादास्पद कहने के लिए चर्चा में रहे हैं। समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव उनका बचाव कर रहे हैं, और उन्होंने कहा कि वह योगी आदित्यनाथ से महाकाव्य में एक शब्द की व्याख्या करने के लिए कहेंगे, जिसने लोगों को विभाजित किया है। अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री अब “योगिक संस्थान” का हिस्सा हैं और उन्हें पता होना चाहिए कि “ताड़ना” शब्द का क्या अर्थ है और ये किन लोगों पर लागू होता है।
स्वामी प्रसाद मौर्य के बचाव में उतरे अखिलेश 
अखिलेश यादव ने कहा कि वे राम और कृष्ण दोनों के साथ-साथ विष्णु के सभी अवतारों में विश्वास करते है। सवाल स्वामी प्रसाद मौर्य की टिप्पणी का नहीं है। सवाल कविता की पंक्तियों का है। अखिलेश ने कहा कि कविता में कही गई बातों पर बीजेपी किसी पर भी केस कर सकती है।
मौर्य को पार्टी का महासचिव बनाये जाने पर अखिलेश ने कहा, सपा यह सुनिश्चित करेगी कि हर कोई जो पार्टी का हिस्सा बनना चाहता है, गरीब, अमीर और बीच में सभी का प्रतिनिधित्व किया जाए।
बता दें , 22 जनवरी को स्वामी प्रसाद मौर्य ने श्री रामचरितमानस को लेकर कहा कि कुछ लोगों ने समाज में निचले तबके माने जाने वाले दलितों और महिलाओं के बारे में बुरी बातें लिखी हैं।  उनका मानना ​​है कि इस तरह की बातें बंद होनी चाहिए क्योंकि इससे कई लोगों की भावनाएं आहत होती हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × 4 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।