Search
Close this search box.

राकेश टिकैत ने योगी सरकार को दिया अल्टीमेटम, कहा- आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया तो राष्ट्रव्यापी आंदोलन करेंगे

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के नेता राकेश टिकैत ने रविवार को योगी सरकार को दिया गया अल्टीमेटम को बुधवार को दोहराते हुये कहा कि अगर आठ दिन में ऐसा नहीं हुआ तो राष्ट्रव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में हुई हिंसा की घटना के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के संबंध में भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के नेता राकेश टिकैत ने रविवार को योगी सरकार को दिया गया अल्टीमेटम को बुधवार को दोहराते हुये कहा कि अगर आठ दिन में ऐसा नहीं हुआ तो राष्ट्रव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा।
केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा से मांग इस्तीफा
उन्होंने कहा कि रविवार की घटना में मरे आठ लोगों में चार किसान और एक पत्रकार शामिल हैं। उन्होंने इस घटना के आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने तथा केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा से त्यागपत्र देने की मांग की। टिकैत ने चार अक्टूबर को राज्य सरकार के साथ एक समझौता किया था जिसके बाद किसानों ने अपना विरोध समाप्त कर दिया था और मृत किसानों का पोस्टमार्टम किया गया था।

लखीमपुर हिंसा मारे गए चौथे किसान का हुआ अंतिम संस्कार, परिजनो की मांग पर दुबारा से हुआ था पोस्टमॉर्टम

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने टिकैत की उपस्थिति में पीड़ित किसानों के परिवारों को 45-45 लाख रुपये देने, योग्यता के हिसाब से परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी और उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश की निगरानी में न्यायिक जांच करवाने की बात चार अक्टूबर को कही थी।
आशीष मिश्रा के खिलाफ FIR दर्ज 
टिकैत ने लखीमपुर शहर के एक गुरुद्वारे में संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमारा विरोध खत्म नहीं हुआ है। हम समझौते के आठ दिन बाद तक इंतजार करेंगे और अगर मांगें पूरी नहीं हुई तो देशव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा।’’ तिकोनिया थाने में हुई घटना में केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा समेत अन्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) में प्राथमिकी दर्ज की गई है।
टिकैत ने कहा कि पीड़ित परिवारों और किसानों से सलाह-मशविरा करने के बाद सरकार के साथ समझौता हुआ था और सभी ने इस पर ‘संतुष्टि’ व्यक्त की थी। सोमवार तड़के घटना स्थल पर पहुंचे संयुक्त किसान मोर्चा के नेता ने तिकोनिया की घटना पर गतिरोध समाप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। गौरतलब है कि पिछले रविवार को लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में हुई हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी।

किसानों की समस्याओं को हल करने के बजाय उनपर गाड़ी चढ़ाकर हत्या कर रही UP सरकार: जयंत चौधरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।