जबरन गर्भपात के दौरान दुष्कर्म पीड़िता की मौत, 4 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में जबरन गर्भपात कराने वाली दुष्कर्म पीड़िता की मौत के मामले में एक डॉक्टर समेत चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में जबरन गर्भपात कराने वाली दुष्कर्म पीड़िता की मौत के मामले में एक डॉक्टर समेत चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) सूर्यकांत त्रिपाठी ने मंगलवार को कहा कि एक 28 वर्षीय ड्राइवर, उसके दोस्त, एक निजी अस्पताल के वरिष्ठ अधिकारी और एक डॉक्टर को अपराधियों के रूप में नामित किया गया है। युवती के रिश्तेदार की शिकायत के आधार पर मुख्य संदिग्ध को हिरासत में ले लिया गया है। एसपी ने दावा किया कि बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई की जा रही है।
वही, 12 अगस्त को जबरन गर्भपात कराने के दौरान महिला की मौत हो गई।
अधिकारी ने कहा कि महिला उस समय ड्राइवर से मिली, जब वह अपने रिश्तेदार के घर पढ़ाई के लिए गई थी, इस दौरान उसके साथ कथित तौर पर दुष्कर्म किया गया। खबरों के मुताबिक, आरोपी दवा देने के बहाने युवती को गर्भपात कराने के लिए निजी अस्पताल ले गया।
युवती का जबरन कराया गया गर्भपात 
पुलिस ने कहा, ‘वह एक अंडरग्रेजुएजट छात्रा थी और आरोपी के साथ रिश्ते में थी। पीड़िता के रिश्तेदार ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि युवक ने उसके साथ दुष्कर्म किया, जिससे वह गर्भवती हो गई।’ परिवार ने यह भी दावा किया कि युवती 12 अगस्त को पड़ोस के गांव में रहने वाले चचेरे भाई से मिलने के बहाने घर से निकली थी। रास्ते में उसकी मुलाकात आरोपी से हुई और वह उसे वाराणसी के एक निजी अस्पताल में ले गया।
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘आरोप है कि अस्पताल में गर्भपात के दौरान युवती की मौत हो गई।’ पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने पीड़िता के शव को छिपाने की कोशिश की, लेकिन वे पकड़े गए। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। अधिकारी ने कहा, ‘पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि मौत सदमे और रक्तस्राव के कारण हुई।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − one =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।