UP News: अखिलेश यादव ने कहा- आज के युवा ही राष्ट्र एवं समाज के भावी कर्णधार

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि आज के छात्र ही राष्ट्र और समाज के भावी कर्णधार हैं।

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने औपचारिक रूप से कहा कि देश को एक नई दिशा की ओर लाने और सश्कत करने के लिए आज के युवा का आत्मनिर्भर होना आवश्यक है। क्योंकि छात्र ही राष्ट्र और समाज के भावी कर्णधार साबित होंगे।  
छात्रों को लेकर अखिलेश ने स्पष्ट किया कि जीवन में लक्ष्य प्राप्त करना और कठिन परिश्रम करने से ही पूणत सफलता प्राप्त होगी। इसलिए छात्रों को मेहनत करनी चाहिए और देश और अपने परिवार का नाम रोशन करना चाहिए । 
युवा देश को बनाएंगे सश्कत- अखिलेश यादव
यूपी के धौलपुर के के राष्ट्रीय मिलिट्री स्कूल के डायमंड जुबली समारोह के रियूनियन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि यादव छात्र ने स्कूल के कैडेट में शामिल होकर भारत का नाम रोशन करने का आह्रान किया है। 
राष्ट्रीय मिलिट्री स्कूल के पूर्व छात्र रहे अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) ने स्कूल के प्रथम प्राचार्य कर्नल केएल घई की प्रतिमा का अनावरण किया। हालांकि, स्कूल में अपने प्रवास के दौरान अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) ने पुरानी यादें ताजा कीं और अपने साथी छात्रों से मुलाकात की। यही नहीं, यादव(Akhilesh Yadav) ने स्कूल की कक्षा 6 और अपने 1990 बैच के छात्रों के साथ ग्रुप फोटो भी खिंचवाई। 
Samajwadi Party Chief Akhilesh Yadav Claims On UP ByElections That BJP  Supporters On Booth Drove Away Muslims Voters And Agents | अखिलेश यादव का  दावा- 'बूथ पर बीजेपी समर्थकों ने किया कब्जा,
अखिलेश यादव ने कही यह बात
 मिली जानकारी के मुताबिक  आयोजन में राष्ट्रीय मिलिट्री स्कूल के प्राचार्य लेफ्टिनेंट कर्नल श्याम कृष्णा टीपी सहित अन्य अतिथि, अधिकारी एवं पूर्व छात्र  अखिलेश(Akhilesh Yadav) की संबोधन समारोह में मौजूद रहे।अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) ने धौलपुर के राष्ट्रीय मिलिट्री स्कूल में वर्ष 1983 में 13JULY जुलाई को छठी कक्षा में दाखिला लिया था। करीब 10 साल के अखिलेश(Akhilesh Yadav) को उस समय कैडेट और स्कॉलर नम्बर 1108 मिला था।अखिलेश धौलपुर मिलिट्री स्कूल(Dholpur Military School) में वर्ष 1990 में 12वीं कक्षा तक पढ़े। इसके बाद वे मैसूर चले गए, जहां से उन्होंने इंजीनियरिंग में स्नातक किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × two =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।