गोरखपुर : योगी की अगुवाई में निकलेगा होली जुलूस, भगवा जीत का दिखेगा रंग

विधानसभा चुनावों में मिली जीत के बाद यूपी के कार्यवाहक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हर साल की तरह इस बार भी अपने गृहनगर गोरखपुर में होली पूरे विधि विधान से मनाएंगे।

विधानसभा चुनावों में मिली जीत के बाद यूपी के कार्यवाहक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हर साल की तरह इस बार भी अपने गृहनगर गोरखपुर में होली पूरे विधि विधान से मनाएंगे। योगी आज शाम को ‘होलिका दहन’ और गुरुवार को भगवान नरसिंह होलिकोत्सव शोभा यात्रा का नेतृत्व करेंगे। इसके लिए योगी आदित्यनाथ तीन दिवसीय दौरे पर आज शाम गोरखपुर पहुंचेंगे।
हर साल रंगों से सराबोर गोरक्ष पीठ के मुखिया भगवान नरसिंह रथ की सवारी करते हैं और नरसिंह शोभा यात्रा के दौरान बिना किसी भेदभाव के सभी को होली की शुभकामनाएं देते हैं। महंत दिग्विजयनाथ और महंत अवैद्यनाथ योगी के बाद पीठ के मुखिया योगी आदित्यनाथ सामाजिक समरसता के आंदोलन को आगे बढ़ा रहे हैं। 
1945 से शुरू हुई परंपरा आज भी जारी
मंदिर सचिव द्वारिका तिवारी ने कहा कि नरसिंह शोभा यात्रा का नाम भगवान नरसिंह के नाम पर रखा गया है, जिन्होंने राक्षस राजा हिरण्यकश्यप का वध किया था, जिसकी शुरूआत 1945 में योगी के गुरु महंत अवैद्यनाथ के पूर्ववर्ती महंत दिग्विजयनाथ ने की थी और तब से यह आज तक यह परंपरा जारी है।
यात्रा में धूप का चश्मा और रेन कोट पहनते है योगी
इस अवसर पर, योगी आदित्यनाथ एक मोटर चालित रथ पर यात्रा शुरू करने से पहले धूप का चश्मा और एक रेन कोट पहनते है। यात्रा शहर की तंग गलियों से होते हुए व्यस्त सरार्फा बाजार से होकर गुजरती है जहां स्थानीय लोगों द्वारा रंगों और गुलाब की पंखुड़ियों से उसका स्वागत किया जाता है। 
जुलूस, जिसमें बड़ी संख्या में बीजेपी और आरएसएस के नेता और कार्यकर्ता शामिल होते हैं, 5 किलोमीटर की दूरी तय करते हैं और मंदिर में समाप्त होती हैं। बाद में, योगी आदित्यनाथ प्रतिष्ठित नागरिकों के साथ एक समारोह में भाग लेते हैं जहां ‘फगुआ’ – पवित्र गीतों का गायन एक प्रमुख आकर्षण है। यात्रा से पहले वह ‘होलिका दहन’ में भी शामिल होते हैं। बीजेपी के एक नेता ने कहा, “यही अवसर है जब भक्तों को पीठाधीश्वर के साथ रंग खेलने का सीधा मौका मिलता है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − fifteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।