यूक्रेन पर हुए साइबर अटैक के बीच रूसी विदेश मंत्रालय ने दिया बयान, एक गोली चलाए बगैर पश्चिमी देशों को किया नष्ट

रूस और यूक्रेन के बढ़ते तनाव के बीच सीमा से सैनिकों को हटाए जाने के बाद रूसी विदेश मंत्रालय ने कहा है

रूस और यूक्रेन के बढ़ते तनाव के बीच सीमा से सैनिकों को हटाए जाने के बाद रूसी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि एक भी गोली चलाए बगैर पश्चिमी देशों को नष्ट कर दिया गया है। मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जाखारोवा ने टेलीग्राम पोस्ट कर कहा, इतिहास की तारीख में 15 फरवरी का दिन यादगार रहेगा जब पश्चिमी देशों का युद्ध संबंधी दुष्प्रचार असफल हो गया है। वे अपने ही कामों से लज्जित हुए है और एक भी गोली चलाए बगैर उन्हें नष्ट का दिया गया है।
सैन्य इकाइयों ने पूरा किया मिशन : रक्षा मंत्रालय 
रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि पश्चिमी और दक्षिणी सैन्य जिलों की इकाइयाँ अपने प्रशिक्षण के समापन पर रेल और ट्रकों से ठिकानों पर लौट रही हैं। मंत्रालय के प्रवक्ता इगोर कोनाशेनकोव ने कहा, दक्षिणी और पश्चिमी सैन्य जिलों की इकाइयों ने अपने मिशन को पूरा कर लिया है और वे ट्रेनों तथा ट्रकों से आज अपनी छावनियों के लिए रवाना होंगी। कुछ इकाइयाँ सैन्य काफिले में शामिल होंगी। रक्षा मंत्रालय ने बाद में, एक वीडियो जारी किया जिसमें रूसी बख्तरबंद वाहनों को अभ्यास से ठिकानों पर लौटते दिखाया गया है।
रूसी रूबल भी हुआ है मजबूत
मीडिया रिपोर्ट  ने बताया कि रूसी सेना की वापसी के समाचार के बाद डॉलर और यूरो के मुकाबले रूसी रूबल भी मजबूत हुआ है। कॉमर्जबैंक में ब्याज दरों की रणनीति के प्रमुख माइकल लिस्टर ने कहा, यूक्रेन सीमा पर सशस्त्र कार्रवाई से बचने और बातचीत की इच्छा जाहिर करने के संकेत बाजार के माहौल को शांत करने के लिए पर्याप्त हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − eleven =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।