लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

UNGA में रूस-यूक्रेन युद्ध पर बहस के बीच PAK ने अलापा ‘कश्मीर राग’, भारत ने लगाई फटकार

संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) के वैश्विक मंच पर कश्मीर मुद्दे को लेकर हमेशा फटकार मिलने के बावजूद पाकिस्तान अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहा।

संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) के वैश्विक मंच पर कश्मीर मुद्दे को लेकर हमेशा फटकार मिलने के बावजूद पाकिस्तान अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहा। हाल ही में ऐसा एक और मौका आया और पाकिस्तान ने अपना कश्मीर राग अलापना शुरू कर दिया। इसके बाद भारत ने ढीठ पड़ोसी देश को जमकर फटकार लगाई।
दरअसल, मौका था रूस-यूक्रेन युद्ध के संबंध में यूएनजीए में वोटिंग पर चर्चा। लेकिन इस दौरान स्पष्टीकरण में पाकिस्तानी राजनयिक मुनीर अकरम लगातार कश्मीर की स्थिति से रूस-यूक्रेन युद्ध की तुलना कर बैठे। इसके बाद संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने अपने करारे शब्दों में पाक को मुहतोड़ जवाब दिया।
रुचिरा कंबोज ने कहा, “हमने देखा है कि आश्चर्यजनक रूप से एक बार फिर एक प्रतिनिधिमंडल द्वारा इस मंच का दुरुपयोग करने और मेरे देश के खिलाफ बेकार और व्यर्थ टिप्पणी करने का प्रयास किया गया है।” उन्होंने कहा कि इस तरह के बयान के बाद पाकिस्तान सामूहिक अवमानना ​​का पात्र है, क्योंकि वह बार-बार झूठ बोल रहा है। 
रुचिरा काम्बोज ने आगे कहा, “जम्मू और कश्मीर का पूरा क्षेत्र हमेशा भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा। हम पाकिस्तान से सीमा पार आतंकवाद को रोकने के लिए कहते हैं ताकि हमारे नागरिकों के जीवन की रक्षा हो और वे स्वतंत्रता के अधिकार का आनंद ले सकें।”
कश्मीर मुद्दे पर पहले भी ‘मुंह की खा’ चुका है PAK
दरअसल, पाकिस्तान को जब भी  वैश्विक मंच पर बोलने का मौका मिले तो वह मुद्दे से परे चला जाता है और कश्मीर का राग छेड़ देता है। और भारत की ओर से उसको मुंह की खानी पड़ती है। इससे पहले यूएनजीए में यूक्रेन के चार क्षेत्रों के रूसी कब्जे की निंदा करते हुए एक प्रस्ताव लाया गया था। 143 सदस्यों ने प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया जबकि पांच ने इसके खिलाफ मतदान किया। भारत सहित कुल 35 देश प्रस्ताव से दूर रहे। हालांकि, भारत ने बुधवार को यूक्रेन में संघर्ष के बढ़ने पर गहरी चिंता व्यक्त की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + twelve =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।