बाबा रामदेव ने उपहार में भेजी कोरोनिल किट, नेपाल ने वितरण पर लगाई रोक

नेपाल सरकार का कहना है कि कोविड-19 में कोरोनिल के प्रभावी दवा होने के साक्ष्यों का अभाव है इसलिए इसके वितरण पर रोक के आदेश दिए गए है।

योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि द्वारा उपहार स्वरुप भेजी गई कोरोनिल किट के वितरण पर नेपाल ने रोक लगा दी है। नेपाल सरकार का कहना है कि कोविड-19 में कोरोनिल के प्रभावी दवा होने के साक्ष्यों का अभाव है इसलिए इसके वितरण पर रोक के आदेश दिए गए है।
रिपोर्ट के मुताबिक नेपाल के डिपार्टमेंट ऑफ आयुर्वेद एंड अल्टरनेटिव मेडिसिन के आदेश में कहा गया है कि कोरोनिल के 1500 किट खरीदने में उचित प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया है, इसलिए कोरोनिल को वितरित किए जाने का काम तत्काल प्रभाव से रोका जा रहा है। 
नेपाल की सरकार की ओर से जारी किए गए नए आदेश में कहा गया है, कोरोनिल किट में शामिल टैबलेट और नाक में डाला जाने वाला तेल, कोरोना वायरस से लड़ने की दवाओं के समकक्ष नहीं है। हालांकि नेपाली स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्पष्ट कर दिया है कि पतंजलि के प्रोडक्ट पर किसी भी तरह की रोक नहीं लगाई गई है।
स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, नेपाली सरकार ने देश में कोरोनिल पर प्रतिबंध लगाने संबंधी किसी भी तरह का आधिकारिक आदेश पारित नहीं किया है। हेल्थ मिनिस्ट्री के अधिकारी ने इस बात को भी रेखांकित किया हाल ही में कोरोनिल के खिलाफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन द्वारा आपत्ति जताई गई थी।
गौरतलब है कि योग गुरु बाबा रामदेव ने कोरोनिल से कोरोना ठीक होने का दावा किया था जिसके बाद देश में खूब विवाद हुआ था। पहले बाबा रामदेव ने इसे सरकार से मंजूरी लेने की बात कही थी। बाद में सरकार ने जब यह दावा खारिज कर दिया तो उन्होंने कहा यह दवा इम्यूनिटी को बूस्ट करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × four =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।