नेपाल में दुर्घटनाग्रस्त हुए यती एयर लाइन्स के विमान के ब्लैक बॉक्स की सिंगापुर में होगी जांच

सिंगापुर का परिवहन मंत्रालय नेपाल के जांच अधिकारियों के अनुरोध पर यति एयरलाइंस के हाल में दुर्घटनाग्रस्त विमान संख्या-691 के ब्लैक बॉक्स की जांच करेगा।

सिंगापुर का परिवहन मंत्रालय नेपाल के जांच अधिकारियों के अनुरोध पर यति एयरलाइंस के हाल में दुर्घटनाग्रस्त विमान संख्या-691 के ब्लैक बॉक्स की जांच करेगा।दरअसल कुछ दिन पहले नेपाल में एक विमान हादसे का शिकार हो गया था जिसमें कई लोगों की जान चली गई थी। जांच के दौरान जांच टीम के हाथ ब्लैक बॉक्स लगा था। आशंका जताई जा रही है कि इस बॉक्स की मदद से हादसे के पिछे की वजह का पता लगाया जा सकता है। 
एमओटी के प्रवक्ता ने इस विषय पर क्या बोले जानें ?
यति एयरलाइंस का विमान 15 जनवरी को पोखरा हवाई अड्डे पर उतरते वक्त दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। हादसे में विमान में सवार सभी 72 लोगों की मौत हो गई थी जिनमें पांच भारतीय थे। परिवहन मंत्रालय (एमओटी) के प्रवक्ता ने बृहस्पतिवार को एक बयान में कहा कि एमओटी का परिवहन सुरक्षा जांच ब्यूरो (टीएसआईबी) दोहरे इंजन वाले एटीआर-72 विमान के फ्लाइट रिकॉर्डर से डेटा को पुनः प्राप्त करने और उसका विश्लेषण करने में मदद करेगा।
ब्लैक बॉक्स की प्रकार करता है कार्य?
प्रवक्ता ने बृहस्पतिवार को बताया कि विश्लेषण टीएसआईबी के ‘फ्लाइट रिकॉर्डर रीडआउट’ केंद्र में किया जाएगा, जिसे 2007 में स्थापित किया गया था। स्ट्रेट्स टाइम्स’ ने प्रवक्ता के हवाले से कहा, जांच की प्रगति और निष्कर्षों सहित सभी जानकारी नेपाली जांच प्राधिकरण द्वारा नियंत्रित की जाएगी। फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर (एफडीआर) और कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर (सीवीआर) या ब्लैक बॉक्स, एक उड़ान से जुड़ी जानकारी जैसे कि उपकरण संबंधी चेतावनी व ऑडियो रिकॉर्डिंग रखते हैं। इनसे किसी घटना के कारणों का पता लगाने में मदद मिलती है। ब्लैक बॉक्स जूते के डिब्बे के आकार का होता है और फ्लोरेसेंट नारंगी रंग का होता है।
जांच में कितना समय लग सकता है? 
वाशिंगटन पोस्ट’ की खबर के अनुसार, नेपाल का जांच दल शुक्रवार को फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर और कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर लेकर सिंगापुर रवाना होगा। काठमांडू पोस्ट’ ने बुधवार को अपनी एक खबर में बताया था कि ब्लैक बॉक्स की जांच में एक सप्ताह लग सकता है और इसके लिए कोई भुगतान नहीं किया जाएगा। एमओटी और नेपाल के संस्कृति, पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने विमान दुर्घटना की जांच में सहयोग के लिए फरवरी 2020 में एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए थे, जिसके तहत सिंगापुर इन ब्लैक बॉक्स की जांच कर रहा है। एमओटी के प्रवक्ता ने कहा, एमओयू के दायरे में जांच सुविधाएं और उपकरणों का उपयोग आता है, जिसमें फ्लाइट रिकॉर्डर रीडआउट सुविधा और प्रशिक्षण आदि शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 + five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।