बोरिस जॉनसन ने कहा- ब्रिटेन कैबिनेट में पहले से ज्यादा भारतीय मूल के मंत्री, ऋषि सुनक का भी जिक्र

ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने शनिवार को कहा कि भारतीय मूल के ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक के नेतृत्व में भारत और ब्रिटेन के संबंध अभूतपूर्व रूप से आगे बढ़ते रहेंगे और दोनों देशों को आज एक दूसरे की पहले से अधिक जरूरत है।

ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने शनिवार को कहा कि भारतीय मूल के ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक के नेतृत्व में भारत और ब्रिटेन के संबंध अभूतपूर्व रूप से आगे बढ़ते रहेंगे और दोनों देशों को आज एक दूसरे की पहले से अधिक जरूरत है।
जॉनसन ने दोनों देशों को मुक्त व्यापार समझौता को अंतिम रूप देने को कहा क्योंकि वह इसके लिये अगली दिवाली का इंतजार नहीं कर सकते। ‘हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप सम्मेलन’ को संबोधित करते हुए ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘हम खतरनाक एवं कठिन समय में रह रहे हैं, ऐसे में दोनों देशों को आज एक दूसरे की पहले से अधिक जरूरत है।’’
 हजारों की संख्या में लोग नाचते हुए कर रहे थे अभिवादन 
उन्होंने कहा कि उनकी ओर से शुरू किया गया कोई भी अभियान इतना सफल नहीं रहा जितना इस वर्ष अप्रैल में उनका गुजरात दौरा और वहां सचिन तेंदुलकर की तरह से स्वागत किये जाने का कार्यक्रम था। जॉनसन ने कहा, ‘‘मेरी तस्वीर चारों ओर थी और सड़कों पर हजारों की संख्या में लोग नाचते हुए अभिवादन कर रहे थे।’’
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उन्होंने इस दौरे के दौरान भारत-ब्रिटेन साझेदारी के भविष्य के बारे में चर्चा की थी। उन्होंने कहा कि उनकी बातचीत शानदार रही और इसके परिणाम भी सामने आए। उन्होंने कहा, ‘‘दूसरे देशों से ब्रिटेन आने वाले छात्रों में भारत का पहला स्थान है और 1,08,000 भारतीय छात्र हमारे शिक्षा उद्योग को समर्थन प्रदान करते हैं।’’
जॉनसन ने कहा कि मुक्त व्यापार समझौते के बिना भी दोनों देशों के द्विपक्षीय कारोबार में 28 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें अंतत: मुक्त व्यापार समझौते को अंतिम रूप देना है जो रहस्यमय तरीके से उनके (जॉनसन) पद छोड़ने के बाद से आगे नहीं बढ़ पा रहा है।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।