Search
Close this search box.

रूसी सैनिकों के पास से मिले दस्तावेजों से हुआ खुलासा, 18 जनवरी को हुई थी युद्ध की मंजूरी : यूक्रेन

रूस के गुप्त युद्ध दस्तावेजों से पता चला है कि यूक्रेन के साथ मास्को के युद्ध की योजना को 18 जनवरी को मंजूरी दी गई थी।

रूस और यूक्रेन के बीच आज युद्ध है आठवां दिन है और आज दोनों सेनाओं ने एक दूसरे पर कई हमले किए है। इस बीच रूस के गुप्त युद्ध दस्तावेजों से पता चला है कि यूक्रेन के साथ मास्को के युद्ध की योजना को 18 जनवरी को मंजूरी दी गई थी। यह अनुमान लगाया गया था कि कब्जा 20 फरवरी से 6 मार्च तक 15 दिनों के भीतर इसे अंजाम तक पहुंचा दिया जाएगा।
घबराहट में दस्तावेज छोड़ रहें हैं रूसी सैनिक :  यूक्रेन 
एक फेसबुक पोस्ट में यूक्रेन के ज्वाइंट फोर्सेस ऑपरेशंस कमांड ने कहा, यूक्रेन के सशस्त्र बलों की इकाइयों में से एक की सफल कार्रवाइयों के कारण रूसी कब्जे वाले न केवल उपकरण और जनशक्ति खो रहे हैं। बल्कि घबराहट में, वे गुप्त दस्तावेज छोड़ देते हैं। यूक्रेन ने कहा कि इस प्रकार हमारे पास रूसी संघ के काला सागर बेड़े के मरीन के 810 वें अलग ब्रिगेड के बटालियन सामरिक समूह की इकाइयों में से एक के नियोजन दस्तावेज हैं।
दस्तावेजों से मिली अन्य जानकारी 
यूक्रेन ने कहा प्राप्त दस्तावेजों में एक वर्क कार्ड, कॉम्बैट मिशन, कॉल साइन टेबल, कंट्रोल सिग्नल टेबल, हिडन कंट्रोल टेबल, कार्मिक सूची आदि हैं। दुश्मन इकाई को स्टेपानोव्का -1 बस्ती के क्षेत्र में ओस्र्क वीडीके से उतरना था और रूसी संघ की 58 वीं सेना की सैन्य इकाइयों के साथ आगे कार्य करना था। इन बलों का अंतिम लक्ष्य नाकाबंदी करना और मेलिटोपोल पर नियंत्रण करना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 + six =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।