कनाडा में गांधी की प्रतिमा को पहुंचाया नुकसान, नहीं थम रही भारत विरोधी घटनाएं

कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत में एक यूनिवर्सिटी परिसर में लगी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा को क्षति पहुंचाए जाने की घटना सामने आई है।

कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत में एक यूनिवर्सिटी परिसर में लगी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा को क्षति पहुंचाए जाने की घटना सामने आई है। गांधी की एक प्रतिमा को खालिस्तान समर्थकों द्वारा निशाना बनाए जाने के कुछ दिनों बाद हुई है। वैंकूवर स्थित भारत के महावाणिज्य दूतावास ने मंगलवार को  कहा  है कि साइमन फ्रेजर विश्वविद्यालय में बर्नाबी परिसर के पीस स्क्वायर पर लगाई गई मूर्ति को क्षति पहुंचायी गई है।
दोषियों के खिलाफ सख्त सजा की मांग की
वाणिज्य दूतावास ने एक ट्वीट में कहा, हम शांति के अग्रदूत महात्मा गांधी जी की मूर्ति को क्षति पहुंचाने के जघन्य अपराध की कड़ी निंदा करते हैं। बयान में कहा गया है, कनाडाई अधिकारियों से मामले की तत्काल जांच करने और अपराधियों को जल्द न्याय के कटघरे में लाने का अनुरोध किया जाता है। यह घटना खालिस्तान समर्थकों द्वारा 23 मार्च को कनाडा के ओंटारियो प्रांत के हैमिल्टन शहर में सिटी हॉल के पास महात्मा गांधी की एक प्रतिमा को विरूपित और स्प्रे-पेंट करने के बाद हुई है।
इससे पहले हिंदू मंदिरों को तोड़ने की गई थी कोशिश
पिछले साल जुलाई में, कनाडा के रिचमंड हिल स्थित एक विष्णु मंदिर के बाहर लगायी गई महात्मा गांधी की प्रतिमा को क्षति पहुंचायी गई थी, जिसकी टोरंटो में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने कड़ी निंदा की थी। कनाडा में हाल में खालिस्तान समर्थकों की भारत विरोधी गतिविधियों में वृद्धि देखी गई है जिन्होंने कुछ हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की है। मिसिसॉगा स्थित एक राममंदिर को खालिस्तानी चरमपंथियों द्वारा 13 फरवरी को भारत विरोधी भित्तिचित्रों के साथ विरूपित किया गया था। इस पर टोरंटो में भारतीय वाणिज्य दूतावास की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया जतायी गई थी।
1679999349 fzzb n

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

11 − 7 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।