ईरान में नहीं थम रहा हिजाब विवाद, पुलिस व प्रदर्शनकारियों के बीच हुई हिंसक झड़प में 19 लोगों की मौत

हिजाब की जबरदस्ती को लेकर ईरान में महिलाएं सड़क पर उतर चुकी है। उनका प्रदर्शन दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है।

हिजाब की जबरदस्ती को लेकर ईरान में महिलाएं सड़क पर उतर चुकी है। उनका प्रदर्शन दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। महिलाएं बड़े पैमाने पर अपनी मांगो को दुनिया के सामने रख रही है। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़पे देखने को मिल रही है। बीते दिन भी पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें 19 लोगों की मौत हो गई है।
19 लोग मारे गए 
एक रिपोर्ट के अनुसार पुलिस और प्रदर्शनकारियों की इस झड़प में पुलिसकर्मियों सहित 19 लोग मारे गए हैं और 20 के करीब लोग घायल हुए हैं। जिन्हे अस्पताल में एडमिट कराया गया है। सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें लोग इधर-उधर भागते हुए दिखाई दे रहे है। वीडियो में गोलियों की आवाज भी साफ सुनाई दे रही है। 
प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी में लगाई आग 
हालांकि, एक वीडियो में कुछ प्रदर्शनकारी पुलिस अधिकारियों के वाहन में आग लगाते हुए दिखाई दे रहे है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है। बता दें, कुछ दिन पहले सुरक्षाबलों ने 20 साल की युवती हदीस नजफी की बेरहमी से हत्या कर दी थी, जिसपर भी काफी बवाल मचा था। 
हदीसा को मारी गई थी गोलियां 
वही, इस घटना का भी सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था , जिसमें देखा जा सकता है की मृतका अपने खुले बालों को बांध रही थी, ताकि प्रदर्शन में हिस्सा ले सके। कहा जा रहा कि हदीसा को गर्दन, सीने, चेहरे और पेट में गोलियां मारी गई थी। इस घटना के बाद प्रदर्शनकारी और भी ज्यादा उग्र हो गए थे। ईरान में महसा अमिनी नाम की लड़की के मौत के बाद विरोध शुरू हुआ है। हिजाब के कारण महसा को कस्टडी में लिया गया था, जहां उसने दम तोड़ दिया था। इसके बाद से महिलाएं सड़कों पर आ गई। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − one =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।