आशा है कि जी7 देश रूस पर प्रतिबंध लगाने में ब्रिटेन का अनुसरण करेंगे : ऋषि सुनक

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि सात देशों का समूह (जी7) रूस के खिलाफ प्रतिबंध लगाने के मामले में ब्रिटेन की पहला का अनुसरण करेगा।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि सात देशों का समूह (जी7) रूस के खिलाफ प्रतिबंध लगाने के मामले में ब्रिटेन की पहला का अनुसरण करेगा। उल्लेखनीय है कि श्री सुनक ने शुक्रवार को रूस से हीरों के आयात पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी। ब्रिटिश प्रतिबंधों में हीरा निर्यात बाजार पर 04 अरब डॉलर की सीज भी शामिल है। उधर, यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल ने जापान के हिरोशिमा में जी7 शिखर सम्मेलन से पहले कहा कि यूरोपीय संघ भी ऐसा ही करने की योजना बना रहा है।
भारत-प्रशांत क्षेत्र का विकास
श्री सुनक ने स्काई न्यूज को दिए गए साक्षात्कार में शुक्रवार को कहा, ‘हम अपने सहयोगी देशों के साथ बात कर रहे हैं और मुझे उम्मीद है कि अन्य देश भी वैसा ही करेंगे, जैसा ब्रिटेन ने रूस को लेकर पिछले पूरे वर्ष में किया है। चाहे वह यूक्रेन को संसाधन प्रदान करने की बात हो या रूस के खिलाफ प्रतिबंध की। 
हमने अन्य देशों को हमारे साथ भागीदार होते देखा है। अंतत: प्रतिबंध तब अधिक प्रभावी होते हैं जब वे एक समन्वित तरीके से किए जाते हैं और मुझे उम्मीद है कि हम यहां भी यही देखेंगे।’ एंटवर्प वर्ल्ड डायमंड सेंटर (एडब्ल्यूडीसी ) के प्रवक्ता टॉम नेस ने शुक्रवार को बताया कि जी7 द्वारा रूसी हीरों को प्रतिबंधित करने पर लंदन में हीरे के व्यापार पर नगण्य प्रभाव पड़गा, लेकिन बेल्जियम के शहर एंटवर्प में बाजार को काफी नुकसान होगा। उल्लेखनीय है कि जी 7 शिखर सम्मेलन 19 से 21 मई तक हिरोशिमा में हो रहा है और इसमें मुख्य मुद्दा यूक्रेन संघर्ष, आर्थिक सुरक्षा, हरित निवेश और भारत-प्रशांत क्षेत्र का विकास है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × two =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।