Search
Close this search box.

भारत की जी-20 अध्यक्षता ‘अब तक का सबसे अहम अंतरराष्ट्रीय प्रयास’ – रुचिरा कंबोज

संयुक्त राष्ट्र में भारत की दूत रुचिरा कंबोज ने जी20 की अध्यक्षता को भारत का अब तक का सबसे अहम अंतरराष्ट्रीय प्रयास बताते हुए कहा है कि प्रभावशाली समूह की बैठकें ऐसे समय में हो रही हैं जब दुनिया जलवायु परिवर्तन से लेकर आर्थिक मंदी, खाद्य और ऊर्जा असुरक्षा तथा भू-राजनैतिक संघर्ष तक कई चुनौतियों का सामना कर रही है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत की दूत रुचिरा कंबोज ने जी20 की अध्यक्षता को भारत का अब तक का सबसे अहम अंतरराष्ट्रीय प्रयास बताते हुए कहा है कि प्रभावशाली समूह की बैठकें ऐसे समय में हो रही हैं जब दुनिया जलवायु परिवर्तन से लेकर आर्थिक मंदी, खाद्य और ऊर्जा असुरक्षा तथा भू-राजनैतिक संघर्ष तक कई चुनौतियों का सामना कर रही है।
भारत ने एक दिसंबर, 2022 से 30 नवंबर, 2023 तक एक वर्ष के लिए जी20 की अध्यक्षता हासिल की।
संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि कंबोज ने भारत की जी-20 अध्यक्षता पर संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों को अपनी ब्रीफिंग में सोमवार को कहा कि जी20 शिखर सम्मेलन इस साल 9-10 सितंबर को नई दिल्ली में आयोजित किया जाएगा और इसमें “अब तक की सबसे बड़ी भागीदारी” होगी।
उन्होंने कहा, “भारत की जी20 अध्यक्षता ऐसे समय में हुई है जब दुनिया जलवायु परिवर्तन और सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) में प्रगति की कमी से लेकर आर्थिक मंदी, ऋण संकट, महामारी से उबरने में असमानता, खाद्य और ऊर्जा असुरक्षा तथा भू-राजनीतिक संघर्षों जैसी कई चुनौतियों का सामना कर रही है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।