Myanmar : चुनावी धोखाधड़ी मामले में आंग सान सू ची को तीन साल की सजा, कई अन्य मामलों में पहले ही ठहराया जा चुका है दोषी

म्यांमार (Myanmar) की एक अदालत ने शुक्रवार को देश की अपदस्थ नेता आंग सान सू ची को चुनावी धोखाधड़ी में संलिप्तता का दोषी करार देते हुए उन्हें तीन साल कैद की सजा सुनाई।

सैन्य शासित म्यांमार (Myanmar) की एक अदालत ने शुक्रवार को देश की अपदस्थ नेता आंग सान सू ची (Aung San Suu Kyi)  को चुनावी धोखाधड़ी में संलिप्तता का दोषी करार देते हुए उन्हें तीन साल कैद की सजा सुनाई।सू ची को पहले ही कई अन्य मामलों में दोषी ठहराया जा चुका है और उन्हें पहले ही 17 साल की सजा हो चुकी है।
हिरासत में देश के कई बड़े नेता
इससे सू ची की ‘नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी पार्टी’ का अस्तित्व भी खतरे में आ गया है। सेना ने देश में 2023 में नए सिरे से चुनाव कराने की घोषणा की है।गौरतलब है कि एक फरवरी 2021 को म्यांमार की सेना ने देश की बागडोर अपने हाथ में ले ली थी और सू ची तथा म्यांमार के कई बड़े नेताओं को हिरासत में ले लिया था। सू ची की पार्टी ने पिछले आम चुनाव में भारी जीत हासिल की थी, लेकिन सेना का कहना है कि चुनाव में व्यापक पैमाने पर धांधली हुई। स्वतंत्र चुनाव पर्यवेक्षकों को कोई बड़ी अनियमितता नहीं मिली थी।सू ची की पूर्व सरकार के दो वरिष्ठ सदस्यों को भी मामले में तीन साल की जेल की सजा सुनाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 − fourteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।