म्यांमा की सैन्य सरकार आंग सान सू ची के खिलाफ अगले सप्ताह कोर्ट में अपना मामला पेश करेगी

म्यांमा की सैन्य सरकार अपदस्थ नेता आंग सान सू ची के खिलाफ अगले सप्ताह सोमवार को अदालत में अपना मामला पेश करेगी। सू ची के वकीलों ने इस बारे में बताया।

म्यांमा की सैन्य सरकार अपदस्थ नेता आंग सान सू ची के खिलाफ अगले सप्ताह सोमवार को अदालत में अपना मामला पेश करेगी। सू ची के वकीलों ने इस बारे में बताया। सेना ने फरवरी में निर्वाचित सरकार का तख्तापलट कर सू ची को गिरफ्तार किया था। तख्तापलट के खिलाफ जनविरोध मजबूत बना रहा और हाल के महीने में इसने सशस्त्र विद्रोह का रूप ले लिया। सू ची के समर्थकों का आरोप है कि उनकी नेता के खिलाफ आरोप राजनीति से प्रेरित, उनकी नीतियों को गलत ठहराने के लिए और तख्तापलट को सही साबित करने के लिए हैं।
सरकारी अभियोजकों को राजधानी नेपीता की अदालत में 28 जून तक अपना पक्ष रखना होगा। सू ची पर पांच आरोपों में सुनवाई हो रही है। इसके बाद सू ची की ओर से बचाव पक्ष की टीम को 26 जुलाई तक अपना पक्ष रखना होगा। हर सप्ताह सोमवार और मंगलवार को अदालत में सुनवाई होगी। सू ची और दो अन्य व्यक्तियों अपदस्थ राष्ट्रपति विन मिंट और नेपीता के पूर्व मेयर म्यो आंग के लिए सोमवार को प्रक्रियात्मक सुनवाई के बाद खिन माउंग जॉ ने पत्रकारों को इस बारे में बताया।
सू ची तथा उनके विश्वस्त दोनों नेताओं पर ऐसी सूचनाएं फैलाने का आरोप है जिससे अशांति पैदा हो सकती थी। साथ ही सू ची पर 2020 में चुनाव प्रचार के दौरान कोविड-19 महामारी के लिए तय पाबंदियों का कथित तौर पर उल्लंघन कर प्राकृतिक आपदा प्रबंधन कानून तोड़ने का आरोप भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।