5 साल बाद भी कनाडा के अरबपति कपल की अनसुलझी मौत की मिस्ट्री, सच बाहर लाने वाले को मिलेंगे 280 करोड़

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस कपल की हत्या के राज से पर्दा उठाने वाले और किलर का पता लगाने वाले को परिवार की तरफ से 35 मिलियन डॉलर यानी करीब 280 करोड़ रुपये राशि दी जाएगी।

कनाडा के सबसे अमीर खानदान में शुमार बैरी शर्मन और उनकी पत्नी हैनी की हत्या की गुत्थी आज तक अनुसलझी है। पांच साल पहले 15 दिसंबर 2017 के दिन हुए इस हत्याकांड मामले में अब तक कोई खुलासा नहीं हो पाया है। हर कोई जानना चाहता है कि अरबपति कपल की मर्डर मिस्ट्री के पीछे किसकी साजिश थी। वहीँ घटना के पांच साल बाद परिवारवालों ने इस मर्डर मिस्ट्री को सॉल्व करने के लिए सार्वजनिक घोषणा की है। 
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस कपल की हत्या के राज से पर्दा उठाने वाले और किलर का पता लगाने वाले को परिवार की तरफ से 35 मिलियन डॉलर यानी करीब 280 करोड़ रुपये राशि दी जाएगी। 
मर्डर या सुसाइड की मिस्ट्री में उलझी पुलिस 
बता दें कि 15 दिसंबर 2017 को कनाडा के सबसे अमीर कपल और एपटेक्स के संस्थापक 75 वर्षीय बैरी शर्मन और 70 वर्षीय उनकी पत्नी हनी मृत पाए गए थे। उनके शव  कुर्सी पर बैठे हुए बरामद हुए थे। शुरुआत में इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई थी कि मरने वाले बैरी शर्मन और उनकी पत्नी हनी ही थे या कोई और। लेकिन बाद में जांच में यह खुलासा हुआ की मरने वाले अरबपति कपल ही थे। इस केस में एक अजीब घटना यह थी कि दोनों ने पूरे कपड़े पहने हुए थे और कुर्सी पर बैठे हुए थे, जिस कुर्सी पर वे बैठे थे उसके चारों ओर से बेल्ट बंधी हुई थी।
  इस मामले में पुलिस भी लाचार नजर आई थी। पुलिस को इस वारदार से जुड़े ज्यादा सबूत नहीं मिले थे। शुरुआत में पुलिस ने इसे हत्या कहा फिर आत्महत्या। हालांकि पुलिस ने अपनी जांच में यह खुलासा किया कि दंपति का गला घोंटा गया था। इसके बाद पुलिस ने  दंपति की संपत्तियों की तलाशी लेने के साथ साथ कई लोगों से पूछताछ भी की, लेकिन फिर भी इस केस को सुलझाने में नाकाम रही। 
परिवार ने की जनता से अपील 
इस केस के 5 साल बीत जाने के बाद बैरी शर्मन के बेटे जोनाथन शर्मन का बयान सामने आया है। उन्होने एक मीडिया चैनल से बात करते हुए कहा, “इस हफ्ते मेरे माता-पिता की हत्या को बीते पांच साल हो रहे हैं। उस दिन से हर पल एक बुरा सपना रहा है। मैं दर्द और बेतहाशा दुख से अभिभूत हूं और ये भावनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं।” 
साथ ही उन्होंने कहा कि जब तक इस हत्या को अंजाम देने वाले अपराधियों को पकड़ा नहीं जाता, तब तक इसे बंद करना संभव नहीं होगा। इसके बाद उन्होंने ऐलान किया कि इस केस के हत्यारों को पकड़ने वालों को 25 मिलियन डॉलर से 35 मिलियन डॉलर की राशि दी जाएगी। 
बैरी ने दवा कंपनी एपोटेक्स की बनाया 
आपको बता दें, 1974 के दौर में बैरी शेरमैन ने अपने एक साथी के साथ मिलकर एपोटेक्स बनाया जिसे उन्होंने एक दवा कंपनी के दौर पर विकसित किया। बैरी अपने नेक कार्यों के लिए काफी चर्चित थे। उन्होंने $50 मिलियन की चैरिटी भी की थी। जब उनकी मृत्यु हुई तो उनकी कुल संपत्ति $3 बिलियन आंकी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।