भारत से मौजूदा विवाद के बीच नेपाल ने चीन के लिए खोला अपना दूसरा बॉर्डर, जानिये क्या है वजह

नेपाल ने निर्माण सामग्री और जलविद्युत एवं हवाई अड्डा परियोजनाओं के लिए आवश्यक सामानों की आपूर्ति के वास्ते पांच महीने के बाद चीन के साथ लगे अपने दूसरे सीमा बिंदु को फिर से खोलने का फैसला किया है।

 नेपाल ने निर्माण सामग्री और जलविद्युत एवं हवाई अड्डा परियोजनाओं के लिए आवश्यक सामानों की आपूर्ति के वास्ते पांच महीने के बाद चीन के साथ लगे अपने दूसरे सीमा बिंदु को फिर से खोलने का फैसला किया है। एक मीडिया खबर में यह जानकारी दी गई है। 
नेपाल ने कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के वास्ते ततोपानी और रसुवागढ़ी में चीन के साथ अपनी दो सीमाओं को 29 जनवरी को बंद कर दिया था। ततोपानी सीमा बिंदु को दवाइयां और स्वास्थ्य उपकरण चीन से लाने के लिए आठ अप्रैल को खोला गया था। काठमांडू पोस्ट की खबर के अनुसार, रसुवागढ़ी सीमा के जरिये नेपाल की ओर एक तरफा यातायात को फिर से शुरू करने पर दोनों देश सहमत हुए हैं। 
खबर के अनुसार, सीमा को फिर से खोलने की अंतिम तिथि अभी तय नहीं की गई है। 
रासुवा के मुख्य जिला अधिकारी हरि प्रसाद पंत ने कहा कि बुधवार को नेपाल-चीन मैत्री पुल (मैत्री ब्रिज) पर दोनों देशों के अधिकारियों के बीच सीमा बिंदु को फिर से खोलने पर चर्चा की गई थी। नेपाल में अब तक कोरोना वायरस के 12,309 मामले सामने आये है और 28 लोगों की मौत हुई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।