नित्यानंद के फर्जी देश कैलासा का 30 से अधिक अमेरिकी शहरों से समझौता : रिपोर्ट

स्वयंभू बाबा और अदालत द्वारा भगोड़ा घोषित नित्यानंद के ‘संयुक्त राज्य कैलासा’(यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ कैलासा) ने 30 से अधिक अमेरिकी शहरों के साथ एक ‘सांस्कृतिक भागीदारी’ समझौता किया है। एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।

स्वयंभू बाबा और अदालत द्वारा भगोड़ा घोषित नित्यानंद के ‘संयुक्त राज्य कैलासा’(यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ कैलासा) ने 30 से अधिक अमेरिकी शहरों के साथ एक ‘सांस्कृतिक भागीदारी’ समझौता किया है। एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।
यह रिपोर्ट अमेरिकी राज्य न्यू जर्सी के नेवार्क शहर की ओर से यह कहने के कुछ दिनों बाद सामने आई कि उसने काल्पनिक देश के साथ ‘सिस्टर सिटी’ समझौता निरस्त कर दिया है।
नेवार्क और फर्जी ‘संयुक्त राज्य कैलासा’के बीच सिस्टर-सिटी समझौता इस साल 12 जनवरी को हुआ था और इसके लिए नेवार्क स्थित सिटी हॉल में समारोह आयोजित किया गया था।
नित्यानांद ने वर्ष 2019 में ‘संयुक्त राज्य कैलासा’ की स्थापना का ऐलान किया था। इसकी एक वेबसाइट के अनुसार 30 से अधिक अमेरिकी शहरों ने फर्जी देश कैलासा के साथ ‘सांस्कृतिक भागीदारी’ समझौता किया है। वेबसाइट के मुताबिक, इन शहरों में रिचमंड, वर्जीनिया, ओहायो, डेटन और बुएना पार्क समेत अन्य शहर शामिल हैं।
फॉक्स न्यूज की एक रिपोर्ट में बृहस्पतिवार को कहा गया कि, ‘‘हम सर्वोच्च फर्जी बाबा का पता लगा रहे हैं, जिसके पास उन शहरों की लंबी सूची है, जिनको उसने ठगा है।’’
नॉर्थ कैरोलिना के जैक्सनविले ने ‘फॉक्स न्यूज’ से कहा, ‘‘कैलासा के साथ हमारी घोषणाएं किसी तरह का समर्थन नहीं हैं। वे एक अनुरोध का जवाब हैं। अनुरोध के साथ दी गई जानकारी को हम सत्यापित नहीं करते हैं।’’
रिपोर्ट में कहा गया है कि ना केवल महापौर या शहर के पार्षद, बल्कि संघीय सरकार को चलाने वाले लोग भी फर्जी देश के लिए नतमस्तक हैं।
रिपोर्ट में कहा गया है कि फर्जी बाबा के मुताबिक, अमेरिकी संसद के दो सदस्यों ने कैलासा को ‘विशेष कांग्रेसनल मान्यता’ दी है। इनमें से एक कांग्रेस सदस्य कैलिफोर्निया की नोर्मा टोरेस हैं।
फॉक्स न्यूज के एंकर ने कहा, ‘‘वह व्यक्ति जो तय करता है कि हम किस चीज पर अपने कर की राशि खर्च करें, उसे एक कथित बलात्कारी बाबा द्वारा फर्जी देश के जरिये ठगा जाता है।’’
ओहायो से रिपब्लिकन नेता ट्रॉय बाल्डरसन ने भी ‘उनकी दिव्य पवित्रता और उनके हिंदू धर्म के पुजारी’ होने को ‘कांग्रेसनल’ मान्यता दी।
इस महीने की शुरुआत में नेवार्क शहर के संचार विभाग में प्रेस सचिव सुसान गैरोफलो ने एक ईमेल में ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया था कि ‘जैसे ही हमें कैलासा के आसपास की परिस्थितियों के बारे में पता चला, नेवार्क शहर ने तुरंत कार्रवाई की और सिस्टर सिटी समझौते को 18 जनवरी को रद्द कर दिया।’’
नित्यानंद भारत में बलात्कार और यौन उत्पीड़न के कई मामलों में वांछित हैं, हालांकि उन्होंने आरोपों से इनकार किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two + nineteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।