लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

Pakistan: पीएम शहबाज के बेटे सुलेमान को बड़ी राहत, मनी लॉन्ड्रिंग केस में मिली जमानत

पाकिस्तान की एक अदालत ने प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के सबसे छोटे बेटे सुलेमान को धन शोधन के मामले में मंगलवार को दो सप्ताह की हिफ़ाज़ती जमानत दे दी।

पाकिस्तान के पीएम शाहबाज शरीफ के छोटे बेटे सुलेमान को मनी लॉन्ड्रिंग केस में   जमानत दे दी गई । मिली जानकारी के मुताबिक सुलेमान को पाकिस्तानी सरकार ने भगौड़ा घोषित किया था क्योंकि इन्होंन अवैध रूप से मनी की आवाजाही कि थी। 
पिछले साल सुलेमान को किया गया था तलब
लंदन में चार साल तक स्व:निर्वासन में रहने के बाद पिछले सप्ताह ही पाकिस्तान लौटे 40 वर्षीय सुलेमान शहबाज इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के समक्ष पेश हुए थे। सुलेमान के वकील की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने उन्हें 14 दिनों की हिफ़ाज़ती जमानत दे दी। इस दौरान संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) सुलेमान को गिरफ्तार नहीं कर सकेगी। इससे पहले इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने पाकिस्तान वापसी पर एफआईए द्वारा सुलेमान की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी और उन्हें 13 दिसंबर तक आत्मसमर्पण करने का आदेश दिया था। एफआईए द्वारा सुलेमान के खिलाफ धन शोधन का मामला दर्ज किए जाने के बाद वह अक्टूबर, 2018 में विदेश चले गए थे। उसके बाद से ही वह स्व:निर्वासन में ब्रिटेन में रह रहे थे।
पाकिस्तान: तोशाखाना मामले में पीएम शहबाज शरीफ का बड़ा बयान, इमरान खान को  कहा 'प्रमाणित चोर' - shahbaz sharif big statement in toshakhana case calls  imran khan certified thief cgpg ...
2018 में छोड़ा था पाकिस्तान
इस्लामाबाद उच्च न्यायालय द्वारा दी गई इस हिफ़ाज़ती जमानत के कारण सुलेमान धन शोधन मामले में गिरफ्तारी से बच रहेंगे। अदालत के समक्ष अपनी याचिका में, सुलेमान के वकील ने तर्क दिया कि उन्होंने 2018 में पाकिस्तान छोड़ दिया और 2020 में उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया। उन्होंने यह भी कहा कि एफआईए ने उन्हें कॉल-अप नोटिस जारी नहीं किया था और अदालत द्वारा उन्हें बिना किसी कार्रवाई के अपराधी घोषित किया गया । बाद में दिन में, सुलेमान आय से अधिक संपत्ति के मामले में ज़मानत मांगने के लिए आईएचसी की एक खंडपीठ के समक्ष उपस्थित हुए। दलीलें सुनने के बाद पीठ ने मामले में 14 दिन की हिफाजत जमानत मंजूर की और निगरानी एजेंसी को उन्हें गिरफ्तार नहीं करने का निर्देश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − seventeen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।