पाकिस्तान : ट्रेन में जले शवों की पहचान के लिए होगा DNA परीक्षण

पाकिस्तान में एक ट्रेन में आग लगने से जलकर मरे अधिकांश लोगों के शवों की पहचान के लिए फोरेंसिक विशेषज्ञों ने डीएनए परीक्षण कराने की योजना बनाई है।

पाकिस्तान में एक ट्रेन में आग लगने से जलकर मरे अधिकांश लोगों के शवों की पहचान के लिए फोरेंसिक विशेषज्ञों ने डीएनए परीक्षण कराने की योजना बनाई है। अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी। कराची से रावलपिंडी जा रहे एक यात्री ट्रेन में खाना पकाने वाले गैस सिलेंडर में विस्फोट के चलते आग लग गई थी। 
एक रिपोर्ट ने शुक्रवार को रहीम यार खान शहर के डिप्टी कमिश्नर जमील अहमद के हवाले से कहा कि परिजनों को दफनाने के लिए शव सौंपे जाने से पहले 52 जले शवों की पहचान करने के लिए डीएनए टेस्ट की आवश्यकता है।रावलपिंडी से चलने वाली तेजगाम एक्सप्रेस के तीन डिब्बे गुरुवार को हुई इस त्रासदी में पूरी तरह से नष्ट हो गए थे, जिसके चलते कम से कम 74 लोगों की मौत हो गई थी। 
अधिकांश पीड़ित पाकिस्तान के सबसे बड़े धार्मिक समारोहों में से एक वार्षिक तब्लीगी इज्तिमा में भाग लेने के लिए यात्रा कर रहे थे। इस समारोह में हर साल लाहौर के बाहर एक गांव में चार लाख लोग जुटते हैं, जो एक साथ दुआएं करते हैं, खाते-पीते और साथ सोते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।