Independence Day 2022 : सीमा पर तैनात भारत और पाकिस्तान के सैनिकों ने मिठाइयों का किया आदान प्रदान

देश की आजादी की 75वीं सालगिरह के अवसर पर सोमवार को सीमा सुरक्षा बला और पाकिस्तानी रेंजर्स ने जम्मू क्षेत्र में पाकिस्तान से लगती अंतरराष्ट्रीय सीमा और पंजाब में अटारी-वाघा सीमा पर मिठाइयों का आदान-प्रदान किया। सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

देश की आजादी की 75वीं सालगिरह के अवसर पर सोमवार को सीमा सुरक्षा बला (बीएसएसफ) और पाकिस्तानी रेंजर्स ने जम्मू क्षेत्र में पाकिस्तान से लगती अंतरराष्ट्रीय सीमा और पंजाब में अटारी-वाघा सीमा पर मिठाइयों का आदान-प्रदान किया। सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों ने यह जानकारी दी।
जम्मू में अधिकारियों ने बताया कि बीएसएफ के जवानों ने पाकिस्तानी रेंजर्स को मिठाइयां भेंट की जिसके जवाब में सीमा पार से भी मिठाइयां भेंट की गई। उन्होंने बताया कि मिठाइयों का आदान-प्रदान सांबा, कठुआ, आरएस पुरा और अखनूर सीमा चौकियों पर बहुत ही सौहार्द्रपूर्ण माहौल में हुआ।
उन्होंने बताया कि बीएसएफ सीमा पर शांतिपूर्ण और सौहार्द्रपूर्ण माहौल बनाने और प्रभावी तरीके से सीमा की रक्षा के लिए अग्रणी रहा है। उन्होंने कहा कि इस तरह की भावना से सीमा के दोनों ओर शांतिपूर्ण महौल और दोनों बलों के बीच सौहार्द्रपूर्ण रिश्ते बनाने में मदद मिलती है।
वहीं, पुंछ और रजौरी जिलों में भारतीय सेना और पाकिस्तानी सेना ने एक दूसरे को बधाई दी और मिठाइयों का आदान-प्रदान किया।
बीएसएफ के जवानों ने अमृतसर से करीब 35 किलोमीटर दूर अटारी-वाघा सीमा पर पाकिस्तानी रेंजर्स के साथ मिठाइयों का आदान-प्रदान किया। वहीं, असम की धुबरी में बांग्लादेश से लगती अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ ने बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश के साथ मिठाइयों का आदान-प्रदान किया।
बीएसएफ अधिकारियों ने बताया कि बल की 31वीं और 19वीं बटालियन ने सोनाहाट और तीस्तापाड़ा सीमा चौकी पर अपने बांग्लादेशी समकक्षों को मिठाइयां भेंट की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × three =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।