भारतीय नेताओं के संपर्क में है US, रूस के खिलाफ खड़े होने के लिए कर रहे हैं प्रोत्साहित : व्हाइट हाउस

अमेरिका, भारतीय नेताओं के संपर्क में है और उन्हें यू्क्रेन पर रूस के हमले के खिलाफ खड़े होने के लिए निकटता से मिलकर काम करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है।

रूस और यूक्रेन में जारी युद्ध को आज 22 दिन हो चुकें हैं और अभी भी स्थिति गंभीर बानी हुई है। इस बीच व्हाइट हाउस ने बुधवार को कहा कि अमेरिका, भारतीय नेताओं के संपर्क में है और उन्हें यू्क्रेन पर रूस के हमले के खिलाफ खड़े होने के लिए निकटता से मिलकर काम करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, जैसा कि आप जानते हैं कि हम हमारे राष्ट्रीय सुरक्षा दल के जरिए विभिन्न माध्यमों से भारत के नेताओं के संपर्क में हैं और यूक्रेन पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के हमले के खिलाफ खड़े होने के लिए हमारे साथ निकटता से काम करने के लिए लगातार प्रोत्साहित कर रहे हैं।
अमेरिका और भारत एक जबरदस्त साझेदार हैं :  प्रेस सचिव 
व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव ने कहा, पिछले दो सप्ताह में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने दिखाया है कि वह रूस के साथ भारत के संबंध और सैन्य एवं सुरक्षा जरूरतों के लिए उसकी मॉस्को पर अत्यधिक निर्भरता के मद्देनजर रूस के संबंध में भारत के रुख को समझता है। अमेरिकी हिंद प्रशांत कमान के कमांडर एडमिरल जॉन क्रिस्टोफर एक्विलिनो ने पिछले सप्ताह संसद में एक सुनवाई के दौरान कहा था कि अमेरिका और भारत एक जबरदस्त साझेदार हैं और दोनों देशों की सेनाओं के बीच संबंध संभवत: शीर्ष बिंदु पर हैं।

रूस ने यूक्रेन के कई शहरों में की भारी बमबारी, US ने ICJ के फैसले का किया स्वागत

भारत का रूस के साथ जटिल इतिहास और संबंध है :  जेन साकी
हिंद-प्रशांत सुरक्षा मामलों के लिए सहायक रक्षा मंत्री एली रैटनर ने एक अन्य बैठक में सदन की सशस्त्र सेवा समिति के सदस्यों से कहा था, हम समझते हैं कि भारत का रूस के साथ जटिल इतिहास और संबंध है। इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने रूसी समकक्ष को एक ‘युद्ध अपराधी’ बताया है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 − 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।