यमन विद्रोहियों ने सऊदी अरब के ऊर्जा प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया, कई असैन्य वाहन और मकान क्षतिग्रस्त

यमन के हूती विद्रोहियों ने रविवार तड़के सऊदी अरब पर ड्रोन और मिसाइल से हमले किए, जिनसे तरल प्राकृतिक गैस संयंत्र, जल विलवणीकरण संयंत्र, तेल प्रतिष्ठान और बिजली केन्द्र को निशाना बनाया गया।

यूक्रेन पर रूस के हमले के बीच दुनिया में एक और जगह काफी उथल-पुथल मची हुई है। यमन के हूती विद्रोहियों ने रविवार तड़के सऊदी अरब पर ड्रोन और मिसाइल से हमले किए, जिनसे तरल प्राकृतिक गैस संयंत्र, जल विलवणीकरण संयंत्र, तेल प्रतिष्ठान और बिजली केन्द्र को निशाना बनाया गया। सऊदी अरब की सरकारी माीडिया ने यह जानकारी दी।  
इन हमलों में कोई हताहत नहीं हुआ 
वहीं, यमन में लड़ रहे सऊदी नेतृत्व वाले सैन्य गठबंधन ने कहा कि इन हमलों में कोई हताहत नहीं हुआ, लेकिन क्षेत्र में असैन्य वाहन और मकान क्षतिग्रस्त हो गए। यह हमला सऊदी अरब पर हूती विद्रोहियों के सीमा पार हमलों में हालिया वृद्धि को दर्शाता है। शांति वार्ता रुकी हुई है और 2015 के बाद से यमन के अधिकांश हिस्सों को बर्बाद करने वाला संघर्ष जारी है। 
हमले इसलिए भी हुए , क्योंकि सऊदी अरब सरकार समर्थित तेल की दिग्गज कंपनी अरामको ने घोषणा की कि उसका मुनाफा 2021 में 124 प्रतिशत बढ़कर 110 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया, कोरोना वायरस महामारी, वैश्विक आपूर्ति की कमी, तेल की बढ़ती कीमतों और ईंधन की मांग में सुधार को लेकर नयी चिंताओं के बीच मुनाफे में यह एक बड़ी छलांग है।  
अरामको जिसे सऊदी अरब तेल कंपनी के रूप में भी जाना जाता है 
अरामको जिसे सऊदी अरब तेल कंपनी के रूप में भी जाना जाता है, ने यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के कारण ऊर्जा बाजारों में तीव्र अस्थिरता के हफ्तों में अपनी कमाई रिपोर्ट जारी की। कच्चे तेल और पेट्रोलियम उत्पादों के दुनिया के सबसे बड़े निर्यातकों में से एक रूस पर दंडात्मक प्रतिबंधों ने पहले से ही मंद ऊर्जा बाजार में उथल-पुथल मचा दी है।  
हमले से संयंत्र को कोई नुकसान हुआ है या नहीं 
यमन के ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों के प्रवक्ता येहिया सैरी ने कहा कि समूह ने ‘‘सऊदी अरब के भीतरी क्षेत्र में एक व्यापक और बड़ा सैन्य अभियान’’ शुरू किया था। सैन्य गठबंधन ने कहा कि उसने अरामको द्वारा संचालित यानबू के लाल सागर बंदरगाह में पेट्रोकेमिकल परिसर में एक तरल गैस संयंत्र पर हमले को विफल कर दिया। 
हालांकि, तत्काल यह स्पष्ट नहीं है कि हमले से संयंत्र को कोई नुकसान हुआ है या नहीं। गठबंधन ने कहा कि अन्य हवाई हमलों ने देश के दक्षिण-पश्चिम में एक बिजली स्टेशन, लाल सागर तट पर अल-शकीक में एक विलवणीकरण केंद्र, दक्षिणी सीमावर्ती शहर जिजान में अरामको के एक टर्मिनल और दक्षिणी शहर खमीस मुशैत में एक गैस स्टेशन को निशाना बनाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × two =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।