लगातार चौथे दिन शेयर बाजार में रही तेजी, Nifty 22,000 के पार पहुंचा, Sensex भी उछला Stock Market Remained Bullish For The Fourth Consecutive Day, Nifty Crossed 22,000, Sensex Also Jumped

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लगातार चौथे दिन शेयर बाजार में रही तेजी, Nifty 22,000 के पार पहुंचा, Sensex भी उछला

शेयर बाजार: घरेलू बाजारों में बुधवार को लगातार चौथे सत्र में तेजी जारी रही। बीएसई का 30 शेयर वाला सूचकांक शरुआती कारोबार में 138.53 अंक चढ़कर 73,243.14 अंक पर पहुंच गया। एनएसई निफ्टी 60.7 अंक की बढ़त के साथ 22,278.55 अंक पर रहा। सेंसेक्स में सूचीबद्ध कंपनियों में से NTPC, टाटा स्टील, भारती एयरटेल, ITC, रिलायंस इंडस्ट्रीज, पावर ग्रिड, भारतीय स्टेट बैंक, टाटा मोटर्स, बजाज फिनसर्व और बजाज फाइनेंस के शेयर सबसे अधिक लाभ में रहे।

  • घरेलू बाजारों में बुधवार को लगातार चौथे सत्र में तेजी जारी रही
  • बीएसई का 30 शेयर वाला सूचकांक 73,243.14 अंक पर पहुंचा
  • NSE निफ्टी 60.7 अंक की बढ़त के साथ 22,278.55 अंक पर रहा
  • HDFC, JSW स्टील, अल्ट्राटेक और हिंदुस्तान यूनिलीवर के शेयरों को नुकसान हुआ

इन कंपनी शेयरों को हुआ नुकसान

share market1

HDFC बैंक, जेएसडब्ल्यू स्टील, अल्ट्राटेक सीमेंट और हिंदुस्तान यूनिलीवर के शेयरों को नुकसान हुआ। एशियाई बाजारों में जापान का निक्की फायदे में और चीन का शंघाई कम्पोजिट नुकसान में रहा। अमेरिकी बाजार मंगलवार को सकारात्मक रुख के साथ बंद हुए। वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 0.72 प्रतिशत की बढ़त के साथ 82.96 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था। शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी संस्थागत निवेशक (FII) पूंजी बाजार में मंगलवार को बिकवाल रहे और शुद्ध रूप से 4,065.52 करोड़ रुपये की कीमत के शेयर बेचे थे।

पिछले सप्ताह सूचकांकों में लगातार गिरावट

share market2 1

पिछले सप्ताह के दौरान, सूचकांकों में लगातार गिरावट आई थी, विश्लेषकों का मानना है कि इसकी वजह मजबूत अमेरिकी डॉलर, मतदान के चरणों में अब तक देखे गए मतदाताओं की घटती संख्या के रुझान के बाद लोकसभा चुनाव के नतीजों में अनिश्चितता और मतदान के बाद मुनाफावसूली है। इसके अलावा, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) की लगातार बिकवाली और बाजार में तेजी लाने वाली कुछ बड़ी कंपनियों की उम्मीद से कम कमाई ने भी निवेशकों की धारणा पर असर डाला।

नोट – इस खबर में दी गयी जानकारी निवेश के लिए सलाह नहीं है। ये सिर्फ मार्किट के ट्रेंड और एक्सपर्ट्स के बारे में दी गयी जानकारी है। कृपया निवेश से पहले अपनी सूझबूझ और समझदारी का इस्तेमाल जरूर करें। इसमें प्रकाशित सामग्री की जिम्मेदारी संस्थान की नहीं है। 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen − six =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।