किसान आंदोलन के मुद्दे पर हरियाणा के गृहमंत्री विज बोले – बातचीत से किसी भी मुद्दे का हो सकता है समाधान

हरियाणा गृह मंत्री अनिल विज ने सोमवार को कहा कि बातचीत से किसी भी मुद्दे का समाधान हो सकता है और प्रदर्शनकारी किसानों का यह मसला भी सुलझ जाएगा।
राज्य में सुरक्षा और शांति बनाए रखने के लिए जो भी आवश्यक होगा वह करेंगे – विज
हरियाणा से होकर गुजरने वाले किसानों के प्रस्तावित दिल्ली मार्च के बारे में पूछे जाने पर विज ने मीडिया से कहा कि हम अपने राज्य के लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और शांति बनाए रखने के लिए जो भी आवश्यक होगा वह करेंगे।
उन्होंने कहा कि किसान संगठनों के साथ चर्चा पहले से ही चल रही है।
बातचीत के लिए केंद्र सरकार के तीन मंत्री दिल्ली से चंडीगढ़ आए
इसी कड़ी में दूसरे दौर की बातचीत के लिए केंद्र सरकार के तीन मंत्री दिल्ली से चंडीगढ़ आए हैं. पहले दौर की बातचीत हो चुकी है।
विज ने किसानों को अन्नदाता बताते हुए कहा कि किसान देश के लगभग 140 करोड़ लोगों का पेट भरता है।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मानना है कि हमें गरीबों, महिलाओं, युवाओं और किसानों पर ध्यान केंद्रित करना है और उन्होंने इस संबंध में जोर देने को कहा है।
राजधानी में 13 फरवरी को किसानों का विरोध मार्च
राष्ट्रीय राजधानी में 13 फरवरी को किसानों के विरोध मार्च से पहले हरियाणा में प्रवेश बिंदुओं पर भारी सुरक्षा और बड़े पैमाने पर यातायात परिवर्तन ने यात्रियों की गतिविधियों को बुरी तरह प्रभावित किया है। लगभग सभी राष्ट्रीय राजमार्गों और प्रमुख सड़कों पर पुलिस की तैनाती के बीच, यात्रियों ने अपनी आगे की यात्रा के लिए हरियाणा में प्रवेश करने के लिए गाँव के मार्गों को चुना।
पंजाब-हरियाणा सीमाएं सील
बैरिकेड्स, बोल्डर, रेत से भरे टिप्पर और कंटीले तारों तथा लोहे की कीलें लगाकर पंजाब-हरियाणा सीमाओं को सील करने से भारी ट्रैफिक जाम के साथ वाहनों की आवाजाही पर असर पड़ा है। अप्रिय घटनाओं को रोकने के लिए अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 + eighteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।