Search
Close this search box.

Kitchen Vastu: वास्तु के अनुसार कहां रखें किचन, जानें खास नियम

यदि हम कुछ दशकों पहले की स्थिति देखें तो पायेंगे कि रसोई में वर्तमान में बहुत कुछ बदल गया है। किसी जमाने में घर की रसोई में लगभग 24 घंटे अग्नि प्रज्वलित रहती थी। उस समय मैच बाॅक्स प्रचलन में नहीं आया था इसलिए अग्नि को हर समय जागृत रखना जरूरी भी था। लेकिन आधुनिक युग में स्थितियों में काफी कुछ आमूलचूल परिवर्तन आ गया है। अब हम आवश्यकता होने पर आसानी से आग जला सकते हैं दूसरी बात यह है कि अब महिलाओं को बहुत ही कम समय रसोई में व्यतीत करना होता है क्योंकि काफी भोजन इस प्रकार से आ गया है कि उसको तैयार करने में बहुत कम समय लगता है।

SA

उपरोक्त स्थिति को ध्यान में रखते हुए ही हमें वास्तु शास्त्र के नियमों को लागू करना चाहिए। आमतौर पर रसोई घर को घर के दक्षिण पूर्व में अर्थात अग्नि कोण में बनाया जाना चाहिए। लेकिन यदि ऐसा करना संभव नहीं हो तो दक्षिण दिशा में कहीं भी रसोई बना सकते हैं। यहां यह उल्लेखनीय है कि जब अग्नि कोण के अलावा रसोई बनाना हो तो केवल गैस चूल्हे को ही काम में लेना चाहिए। पारस्परिक चूल्हे में अग्नि बहुत ज्यादा मात्रा में ऊर्जा उसर्जित करती है जिसको समायोजित करने की क्षमता केवल अग्नि कोण में ही है। गैस चूल्हे की स्थिति में दक्षिण दिशा में कहीं भी रसोई बना सकते हैं लेकिन गैस चूल्हे के नीचे गहरे लाल रंग की चटाई रखें। यदि चटाई या मैट की व्यवस्था न हो सके तो गैस चूल्हे के नीचे गहरा लाल आयल पेन्ट कर दें। इसके अलावा गैस चूल्हे को रसोई कक्ष के अग्नि कोण में रखें। और इस प्रकार से व्यवस्थित करें कि उपयोगकर्ता महिला का चेहरा उत्तर या पूर्व दिशा में रहे।

किचन को कहां नहीं होना चाहिए

रसोईघर को कभी भी ईशान कोण में नहीं होना चाहिए। यदि ऐसा होगा तो धन सम्बन्धित परेशानी हमेशा बनी रहती है।

किचन संबंधित खास बातें

  • रसोईघर में पूजा स्थान नहीं होना चाहिए। पित्तरों का स्थान भी रसोईघर नहीं रखें।
  • रसोईघर में द्वार उत्तर या पूर्व दिशा में होना चाहिए।
  • रसोई घर के ऊपर से सीढ़ियां नहीं निकलनी चाहिए।
  • यदि किचन बिल्कुल अग्नि कोण में हो तो उसके ठीक ऊपर पानी की टंकी नहीं होनी चाहिए।
  • किचन से सट कर बाथरूम या टायलेट नहीं होना चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven − 6 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।