मस्क ने ट्विटर के CEO रहे पराग अग्रवाल को निकालने का बताया कारण

टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क ने भारतीय मूल के पूर्व ट्विटर सीईओ पराग अग्रवाल को कपनी से निकालने का कारण बताया

टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क ने भारतीय मूल के पूर्व ट्विटर सीईओ पराग अग्रवाल को कपनी से निकालने का कारण बताया। धरती के सबसे अमीर अरबपतियों में से एक मस्‍क की एक नई जीवनी के अनुसार अग्रवाल सोशल मीडिया की मांग अनुसार काम नहीं कर पा रहे थे। अमेरिकी लेखक-पत्रकार वाल्टर इसाकसन द्वारा लिखित ‘एलन मस्क’ नामक पुस्तक में मस्‍क को नियम-तोड़ने वाला दूरदर्शी बताया गया हैै, जिसने दुनिया को इलेक्ट्रिक वाहनों के युग में ले जाने में मदद की। वॉल स्ट्रीट जर्नल द्वारा प्रकाशित अंशों के अनुसार, मस्क अग्रवाल के बारे में काफी विचारशील हैं। 
 प्रबंधकों को पसंद किए जाने का लक्ष्य नहीं रखना चाहिए
इसाकसन की किताब में उन्हें यह कहते हुए उद्धृत किया गया है,“वह वास्तव में एक अच्छा लड़का है, लेकिन प्रबंधकों को पसंद किए जाने का लक्ष्य नहीं रखना चाहिए। ट्विटर को आग उगलने वाले ड्रैगन की जरूरत है, और पराग वह नहीं है। पिछले साल अक्टूबर में जब उन्होंने 44 बिलियन डॉलर में ट्विटर का अधिग्रहण किया, तो मस्क ने अग्रवाल और पूर्व कानूनी और सार्वजनिक नीति प्रमुख विजया गड्डे को सूचित किया कि कंपनी के साथ उनका रोजगार समाप्त हो गया है।
दोनों अधिकारियों को मोटा एग्जिट पैकेज मिलना था। 
6 अक्टूबर, 2022 को ट्विटर पर सक्रिय थे पराग 
अग्रवाल आखिरी बार 6 अक्टूबर, 2022 को ट्विटर पर सक्रिय थे, और उन्हें मेटा थ्रेड्स सहित किसी भी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सक्रिय नहीं देखा गया है। पिछले साल दिसंबर में, मस्क ने ट्विटर फाइल्स सीजन 2 जारी किया था, इसमें खुलासा किया गया था कि माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म में एक गुप्त समूह था जिसमें गड्डे, तत्कालीन सीइओ अग्रवाल और ट्रस्ट और सुरक्षा के पूर्व वैश्विक प्रमुख योएल रोथ शामिल थे, जिन्होंने विवादास्पद निर्णय लिए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 5 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।