Uttarkashi सुरंग में फंसे 41 श्रमिकों को बचाने के लिए एक्शन में केंद्र सरकार

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में ढही एक निर्माणाधीन सुरंग में पिछले सात दिनों से फंसे 41 श्रमिकों को बचाने के लिए केंद्र सरकार कड़ी मेहनत कर रही है। सड़क, परिवहन और राजमार्ग सचिव अनुराग जैन ने बताया कि सरकार श्रमिकों को मल्टीविटामिन, अवसाद रोधी दवाएं और सूखे मेवे भेज रही है। अनुराग ने बताया कि टनल में रोशनी होना सबसे सुकून की बात है। वहां एक पाइपलाइन है, जिससे पानी उपलब्ध कराया गया है। एक 4 इंच का पाइप है, जिसका उपयोग भोजन भेजने के लिए किया जाता है।

HIGHLIGHTS 

1 सुरंग में फंसे 41 श्रमिकों को बचाने के लिए एक्शन में केंद्र सरकार 
2 चार धाम ऑल वेदर रोड परियोजना का हिस्सा है सुरंग 
3 शुक्रवार को रुक गया था बचाव अभियान 

चार धाम ऑल वेदर रोड परियोजना का हिस्सा है सुरंग
जैन ने उत्तरकाशी सुरंग (Uttarkashi Tunnel Collapse) ढहने के बचाव अभियान पर आगे कहा कि सुरंग के अंदर दो किमी हिस्से में पानी और बिजली है। उत्तरकाशी जिला मुख्यालय से लगभग 30 किमी दूर और उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से सात घंटे की ड्राइव पर सिल्कयारा सुरंग, केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी चार धाम ऑल वेदर रोड परियोजना का हिस्सा है।

शुक्रवार को रुक गया था बचाव अभियान
बता दें कि सुरंग पिछले रविवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे ढह गई। बचाव अभियान शुक्रवार दोपहर को निलंबित कर दिया गया था, जब श्रमिकों को निकालने का मार्ग तैयार करने के लिए मलबे के माध्यम से पाइपों को ड्रिल करने और धकेलने के लिए तैनात अमेरिका निर्मित बरमा मशीन में एक खराबी आ गई। जब तक ड्रिलिंग रोकी गई, तब तक ऑगर मशीन सुरंग के अंदर 60 मीटर क्षेत्र में फैले मलबे के माध्यम से 24 मीटर तक ड्रिल कर चुकी थी।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 + 17 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।