Search
Close this search box.

ICC ने फिर किया क्रिकेट नियमों में बदलाव

ICC ने खेल के नियमों में बदलाव किया है, जिसके अनुसार जब मैदानी अंपायर स्टंपिंग की अपील रेफर करते हैं तो टीवी अंपायर विकेट के पीछे कैच की जांच नहीं करेगा।
यह संशोधन 12 दिसंबर, 2023 को लागू हुआ, अब यदि कोई टीम पीछे पकड़े गए कैच की समीक्षा करना चाहती है, जब कीपर ने बेल्स भी हटा दी है, तो उसे डीआरएस के माध्यम से अलग से ऐसा करना होगा।

HIGHLIGHTS

  • ICC ने खेल के नियमों में बदलाव किया
  • कन्कशन के नियम में भी बदलाव
  • स्टंप के नियम में हुआ बदलाव headquarters international cricket council dubai logo the 8de43b6e 2982 11eb 8c81 5eed557c67b5 1633602648113

पिछले साल की शुरुआत में भारत के खिलाफ श्रृंखला में, ऐसे कई उदाहरण थे जब ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर एलेक्स कैरी स्टंपिंग के लिए अपील करते थे, और रेफरल के दौरान टीवी अंपायर डीआरएस समीक्षा का उपयोग किए बिना भी बढ़त की जांच करते थे। अब स्टंपिंग रेफरल पर केवल साइड-ऑन कैमरे के ज़रिये ही फुटेज दिखाए जाएंगे और अंपायर किसी भी निशान की जांच नहीं करेंगे। India Cricket WCup 298 1704351010364 1704351146647

ICC के नए संशोधन में कहा गया है कि स्टंपिंग रिव्यु को केवल स्टंपिंग की जांच तक ही सीमित रखा है, इसलिए फील्डिंग टीम के खिलाड़ियों को स्टंपिंग के दौरान कॉट-बिहाइंड की अपील के लिये प्लेयर रिव्यु लेना होगा। रिव्यु लिए बिना सिर्फ स्टंप की जांच ही की जाएगी। ICC ने कन्कशन के नियम में भी अब अधिक स्पष्टता ला दी है। अब अगर किसी खिलाड़ी को गेंदबाज को गेंदबाज़ी करने से रोक दिया गया था या निलंबित कर दिया गया था तो सब्सीट्यूट खिलाड़ी को भी गेंदबाज़ी करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। ICC ने मैदानी चोट के आकलन और उपचार के लिए निर्धारित समय को भी चार मिनट तक सीमित कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 5 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।