क्रिकेटर Rishabh Pant के साथ 1.63 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने वाला गिरफ्तार

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

Rishabh Pant के साथ 1.63 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने वाला क्रिकेटर गिरफ्तार

हरियाणा के लिए अंडर-19 क्रिकेट खेल चुके और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में मुंबई इंडियंस का प्रतिनिधित्व करने का दावा करने वाले एक युवक को यहां ताज पैलेस होटल से कथित तौर जुलाई 2022 में 5 लाख रुपये और Rishabh Pant के साथ धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी।

HIGHLIGHTS

  • पेमेंट के बारे में पूछे जाने पर उसने कहा कि यह काम उसकी कंपनी एडिडास करेगी
  • जांच के दौरान धारा 41 ए सीआरपीसी के तहत नोटिस दिया गया
  • वह पुलिस जांच से बचने के लिए सभी उपाय कर रहा था
  • Rishabh Pant के साथ धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है
  • दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी

Rishabh Pant

आरोपी की पहचान हरियाणा के फरीदाबाद के रहने वाले 25 वर्षीय मृणांक सिंह के रूप में की गई और उसके धोखाधड़ी के शिकार लोगों में क्रिकेटर Rishabh Pant के साथ-साथ भारत भर के कई लक्जरी होटल के मालिक और प्रबंधक शामिल हैं, जिन्हें उसने खुद को कर्नाटक के एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी के रूप में पेश करके धोखा दिया था। उसकी गिरफ्तारी पिछले अगस्त में ताज पैलेस होटल के सुरक्षा निदेशक की चाणक्यपुरी पुलिस स्टेशन में एक शिकायत के बाद हुई है, जिसमें आरोप लगाया गया था कि सिंह, जिसने खुद को एक क्रिकेटर के रूप में पेश किया था, 22-29 जुलाई, 2022 तक होटल में रुका था, उसने 5,53,362 रुपये के बिल भरे बिना होटल से छोड़ दिया।

mrinank singh

पेमेंट के बारे में पूछे जाने पर उसने कहा कि यह काम उसकी कंपनी एडिडास करेगी, पुलिस कमिश्नर, नई दिल्ली, रविकांत कुमार ने कहा, होटल के बैंक स्‍टेटमेंट उसके साथ साझा किए गए। उसने दो लाख रुपये के ऑनलाइन लेनदेन का यूटीआर नंबर भी साझा किया। तुरंत, होटल के सिस्टम में इसकी जांच की गई और पाया गया कि उसने कोई भुगतान नहीं किया था। उन्होंने कहा, इसके बाद भुगतान के लिए सिंह और उसके प्रबंधक गगन सिंह से उनके मोबाइल पर संपर्क किया गया। सिंह ने कहा कि वह बकाया राशि का भुगतान करने के लिए अपने ड्राइवर को नकदी के साथ भेजेगा, लेकिन किसी को होटल नहीं भेजा। भुगतान के लिए उससे कई बार संपर्क किया गया। लेकिन हर बार उसने झूठे वादे किए और हमेशा गलत जानकारी दी।

mrinank Singh arrested for cheating Taj palace hotel

जांच के दौरान धारा 41 ए सीआरपीसी के तहत नोटिस दिया गया। नोटिस सिंह के पते पर भेजा गया था, लेकिन वह वहां नहीं मिला।
अतिरिक्त डीसीपी ने कहा, वह पुलिस जांच से बचने के लिए सभी उपाय कर रहा था। उसका मोबाइल फोन स्विच ऑफ मोड में रहता था और उसके अधिकांश संचार सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म या इंटरनेट चैटिंग एप्लिकेशन पर होते थे। उसके परिचितों को यह भरोसा दिलाया गया था कि वह भारत में नहीं है और अब दुबई में बस गया है। “इसके बाद स्थानीय अदालत द्वारा उसके खिलाफ एक गैर-जमानती वारंट जारी किया गया और देश से बाहर भागने की कोशिश करने की स्थिति में उसे पकड़ने और गिरफ्तार करने के लिए एक लुक आउट-सर्कुलर भी जारी किया गया। डीसीपी ने कहा, सोमवार को उसे आईजीआई हवाई अड्डे पर Immigration अधिकारियों ने हिरासत में ले लिया, क्योंकि उसकी एलओसी पहले से ही मौजूद थी, जब वह हांगकांग के लिए उड़ान भरने की कोशिश कर रहा था और उसे पुलिस को सौंप दिया गया।

mrinank 1

आईजीआई हवाई अड्डे पर अपनी हिरासत के दौरान सिंह ने खुद को कर्नाटक का एडीजीपी आलोक कुमार बताते हुए वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को फोन करके आव्रजन अधिकारियों को प्रभावित करने का एक और प्रयास किया और अपने बेटे की मदद करने में सहायता मांगी, जिसे दिल्ली के आईजीआई हवाईअड्डे पर अवैध रूप से हिरासत में लिया गया है। कुमार ने कहा, पूछताछ करने पर उसने बार-बार पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की, उसने दावा किया कि उसके पिता अशोक कुमार सिंह, जो 1980 से 1990 के दशक तक भारत के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी रहे हैं, इस समय एयर इंडिया में प्रबंधक के रूप में कार्यरत हैं और आईजीआई हवाईअड्डे पर तैनात हैं। सिंह ने यह भी खुलासा किया कि उसने खुद को एडीजीपी, कर्नाटक बताते हुए कई लक्जरी रिसॉर्ट्स/होटलों को लाखों रुपये का चूना लगाया है और कई मौकों पर आईपीएल क्रिकेटर के रूप में अपने स्टारडम का इस्तेमाल उन्हें प्रभावित करने के लिए किया और कई दिनों तक ठहरने और बकाया चुकाए बिना होटल छोड़ दिया और बाद में भुगतान करने का वादा किया।

conman mrinank singh 271301368

अतिरिक्त सीपी ने कहा, उसके मोबाइल फोन के विश्‍लेषण से  पता चला कि उसकी धोखाधड़ी और प्रतिरूपण के कई शिकार हुए हैं और ठगी गई राशि कई लाख रुपये है। उसके पीड़ितों में होटल, बार, रेस्तरां, लड़कियां, कैब ड्राइवर शामिल हैं।“ उन्होंने कहा, Rishabh Pant के साथ 2020-21 में 1.63 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी भी हुई थी। सिंह के मोबाइल फोन के शुरुआती विश्‍लेषण से युवा मॉडलों/लड़कियों के साथ उनकी दोस्‍ती का पता चला है और इसमें कई वीडियो और तस्वीरें हैं, जिनमें से कुछ बेहद आपत्तिजनक हैं। सिंह को अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे दो दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen + 16 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।