रणजी ट्रॉफी के ज़रिये एक बार फिर से वापसी को बेकरार यह अनुभवी गेंदबाज़

अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा शुक्रवार से यहां पालम मैदान में शुरू होने वाले पांचवें रणजी ट्राफी ग्रुप डी मैच में बड़ौदा के लिए दिल्ली की अंतिम एकादश में खेलने उतरेंगे। 100 से अधिक टेस्ट मैच खेल चुके अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत दिल्ली के घरेलू मैच में खेलने को तैयार हैं और वह प्रिंस यादव की जगह उतरेंगे।

HIGHLIGHTS

  • इशांत शर्मा रणजी ट्रॉफी में बड़ौदा के खिलाफ मैदान पर उतरेंगे।
  • घरेलु टीम दिल्ली से खेलते हैं इशांत 
  • 100 से अधिक टेस्ट खेल चुके हैं इशांत

ishant sharma 650 072214121219

पालम के एयर फोर्स मैदान की पिच सपाट है लेकिन दिल्ली की सर्दी और बारिश से हुई नमी से तेज गेंदबाजों को मदद मिलेगी। अगर धूप नहीं निकली तो पिच की नमी से इशांत के साथ नवदीप सैनी और हिमांशु चौहान को मदद मिलेगी। इशांत की मौजूदगी से युवा कप्तान हिम्मत सिंह को फैसले करने में मदद मिल सकती है। वह पुडुचेरी के खिलाफ अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में नहीं थे लेकिन वह पहले मैच में मिली हार की भरपायी करना चाहेंगे। इशांत शर्मा लंबे समय से टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं उनके नाम 105 टेस्ट की 188 पारियों में 311 विकेट हैं। जबकि वनडे क्रिकेट में भी उनके नाम 115 विकेट दर्ज हैं। वह 2024 आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से खेलते हुए नज़र आएंगे।

ishant
यह मैच फिरोजशाह कोटला पर खेला जाना था लेकिन इसे महिला प्रीमियर लीग के लिए तैयार किया जा रहा है। मोहाली में उत्तराखंड के खिलाफ पिछड़ने के बाद वापसी करने वाली जीत से दिल्ली का मनोबल बढ़ा होगा और हिम्मत सिंह की अगुआई वाली टीम के लिए क्वार्टरफाइनल में जगह बनाने का मौका है बशर्ते वह बड़ौदा के खिलाफ मैच से लेकर लगातार तीन जीत दर्ज करे। उत्तराखंड के खिलाफ दूसरी पारी में 14 रन पर पांच विकेट गंवाने के बाद हिम्मत ने 194 रन की मैच विजयी पारी खेली थी लेकिन हर बार ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद नहीं की जा सकती। दिल्ली की टीम मौसम के खुलने की उम्मीद लगाये होगी ताकि यह बल्लेबाजी के लिए मुफीद हो और मेजबान टीम के बल्लेबाज उम्मीदों के अनुरूप प्रदर्शन करें। पिछले मैच में उप कप्तान आयुष बडोनी को 15 खिलाड़ियों की टीम से बाहर कर दिया गया था और उनकी जगह क्षितिज शर्मा का विवादास्पद चयन किया गया जो आठ और शून्य बनाकर विफल रहे जिससे यह देखना दिलचस्प होगा कि वह अंतिम एकादश में अपना स्थान बरकरार रख पाते हैं या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 + six =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।