माफीवीर बन देश के युवाओं की बात माननी पड़ेगी और अग्निपथ वापस लेना पड़ेगा : राहुल गांधी

अग्निपथ योजना पर जहां तमाम युवा सड़कों पर उतर इसका विरोध कर रहे हैं, तो वहीं विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर नजर आ रहा है।

अग्निपथ योजना पर जहां तमाम युवा सड़कों पर उतर इसका विरोध कर रहे हैं, तो वहीं विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर नजर आ रहा है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा, उन्हें माफिवीर बन देश के युवाओं की बात माननी पड़ेगी और इसे वापस लेना पड़ेगा। 
योजना की घोषणा के दो दिनों के भीतर अपने पहले संशोधन में केंद्र ने कहा, “इस तथ्य का संज्ञान लेते हुए कि पिछले दो साल के दौरान भर्ती करना संभव नहीं था, सरकार ने यह फैसला किया है कि 2022 के लिए प्रस्तावित भर्ती प्रक्रिया में एकमुश्त छूट दी जाएगी।
प्रधानमंत्री जी को काले कृषि कानून वापस लेने पड़े 
इस योजना पर राहुल ने कहा, “8 सालों से लगातार भाजपा सरकार ने ह्यजय जवान, जय किसान’ के मूल्यों का अपमान किया है। मैंने पहले भी कहा था कि प्रधानमंत्री जी को काले कृषि कानून वापस लेने पड़ेंगे। ठीक उसी तरह उन्हें ‘माफीवीर’ बनकर देश के युवाओं की बात माननी पड़ेगी और ‘अग्निपथ’ को वापस लेना ही पड़ेगा।
अग्निपथ योजना  के लिए आयु सीमा 17.5 से 21 वर्ष निर्धारित 
केंद्र ने अग्निपथ भर्ती योजना के पहले बैच के लिए ऊपरी आयु सीमा 21 वर्ष से बढ़ाकर 23 वर्ष कर दी है। 2022 के लिए प्रस्तावित भर्ती के लिए आयु में छूट सिर्फ एक बार दी जाएगी। पहले इस योजना के लिए आयु सीमा 17.5 से 21 वर्ष निर्धारित की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − 6 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।