Search
Close this search box.

राजधानी दिल्ली समेत कई राज्यों में शीतलहर का कहर जारी, जानें कब तक रहेगा ऐसा मौसम

देश की राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में शीतलहर का भीषण प्रकोप जारी है, जो काफी खतरनाक साबित हो रहा है। दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब और राजस्थान जैसे राज्यों में अभी शीत लहर और कड़ाके की ठंड जारी रहेगी।

देश की राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में शीतलहर का भीषण प्रकोप जारी है, जो काफी खतरनाक साबित हो रहा है। दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब और राजस्थान जैसे राज्यों में अभी शीत लहर और कड़ाके की ठंड जारी रहेगी। मौसम विभाग के अनुसार इस पूरे सप्ताह सर्दी से राहत के आसार नहीं है। शनिवार तक दिन का तापमान 20 डिग्री से नीचे रहने के आसार हैं।  
कम से कम तीन दिन कड़ाके की ठंड बनी रहेगी 
इस दौरान सर्द हवा, कोहरा और बादलों के चलते गलन का अहसास बना रहेगा। फिलहाल कम से कम तीन दिन कड़ाके की ठंड बनी रहेगी। मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर-पश्चिमी भारत के एक बड़े हिस्से में बनी कोहरे की मोटी चादर के चलते दिल्ली-एनसीआर के लोग बीते तीन दिनों से कड़ाके की सर्दियों का सामना कर रहे हैं।  
सफदरजंग केंद्र में न्यूनतम तापमान भी 8.1 डिग्री सेल्सियस 
कोहरे की मोटी परत और हल्के बादलों के चलते शुक्रवार और शनिवार को दिनभर धूप नहीं निकल सकी थी। इसके चलते शुक्रवार और शनिवार को शीत दिवस (कोल्ड डे) की स्थिति रही थी। यही हाल रविवार को भी बना रहा। हालांकि हवा की गति में इजाफा होने के चलते शनिवार की तुलना में थोड़ी राहत मिली है। 
रविवार को सफदरजंग मौसम केंद्र में दिन का अधिकतम तापमान 17.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री कम है। शनिवार से इसकी तुलना करें तो लगभग ढाई डिग्री सेल्सियस का इजाफा हुआ है। शनिवार को अधिकतम तापमान 14.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। सफदरजंग केंद्र में न्यूनतम तापमान भी 8.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस ज्यादा है। 
दिल्ली का नरेला क्षेत्र रविवार को सबसे ज्यादा ठंडा रहा। यहां का अधिकतम तापमान 12.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से सात डिग्री कम है। वहीं, जाफरपुर का अधिकतम तापमान 13.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह भी सामान्य के मुकाबले करीब सात डिग्री कम है। इन दोनों ही जगहों पर शीत दिवस की स्थिति रही। इसके अलावा, पालम और रिज मौसम केंद्र में भी अधिकतम और न्यूनतम तापमान में कमी दर्ज की गई।  
मौसम विभाग ने सोमवार को भी दिल्ली के कुछ हिस्सों में शीत दिवस की स्थिति रहने का अनुमान जताया है। इसके लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। अधिकतम तापमान 17 से 18 डिग्री के आसपास रहेगा। शनिवार यानी 22 जनवरी को अधिकतम तापमान 16 डिग्री रहने का अनुमान है। 
जम्मू-कश्मीर में 3 दिनों तक हल्की बारिश, हिमपात की संभावना 
जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में रविवार को न्यूनतम तापमान में मामूली सुधार हुआ। वहीं मौसम कार्यालय ने तीन दिनों तक हल्की बारिश और हिमपात का अनुमान जताया है। मौसम विभाग के एक बयान में कहा गया है, 16 से 19 जनवरी के दौरान जम्मू-कश्मीर के मैदानी इलाकों में बहुत हल्की बारिश-हिमपात की संभावना के साथ आमतौर पर बादल छाए रहने की संभावना है। ऊंचाई वाले इलाकों में हल्की से मध्यम हिमपात होगी। जनवरी के अंत तक किसी भी बड़ी बारिश-हिमपात का कोई पूवार्नुमान नहीं है। 
राजस्थान में कडाके की सर्दी और कोहरे का प्रकोप जारी 
राजस्थान के कई हिस्सों में कड़ाके की सर्दी और कोहरे का प्रकोप जारी है, जिससे राज्य के कुछ हिस्सों में आम जनजीवन प्रभावित हुआ है। राज्य के एकमात्र पर्वतीय पर्यटक स्थल माउंट आबू में रात का तापमान पिछले तीन चार दिनों से शून्य से नीचे दर्ज किया गया। शनिवार को करौली राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा जहां रात का तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राजधानी जयपुर, अजमेर, भीलवाडा, पिलानी, वनस्थली, सीकर, कोटा, चित्तौड़गढ, डबोक (उदयपुर), बीकानेर, चूरू और गंगानगर में हल्के से मध्यम दर्जे का कोहरा छाया है। 
इन राज्यों में बारिश का अनुमान 
16 जनवरी से हिमालय में पश्चिम विक्षोभग एक बार फिर सक्रिय हो गया है। इस वजह से कड़ाके की ठंड का दौर पूर्वी उत्तर प्रदेश में बुधवार तक जारी रह सकता है। आज तटीय आंध्र प्रदेश और अगले चार से पांच दिनों के दौरान रायलसीमा, तमिलनाडु, केरल और माहे में छिटपुट या मध्यम वर्षा होगी। इसके अलावा मौसम विभाग ने 19 और 20 जनवरी को अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के अलग-अलग इलाकों में गरज-चमक के साथ मध्यम बारिश होने का अनुमान जताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 − three =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।