Shraddha Murder Case : पुलिस की कई टीम मुंबई व हिमाचल भेजी गईं - Latest News In Hindi, Breaking News In Hindi, ताजा ख़बरें, Daily News In Hindi

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

Shraddha Murder Case : पुलिस की कई टीम मुंबई व हिमाचल भेजी गईं

दिल्ली पुलिस ने श्रद्धा वालकर हत्याकांड में सबूतों की तलाश के लिए कई टीम को शुक्रवार को मुंबई, गुड़गांव और हिमाचल प्रदेश भेजा, जबकि दो साल से दोस्तों और सहकर्मियों के साथ पीड़िता की बातचीत से संकेत मिलता है कि उसे एक बार इतनी बुरी तरह पीटा गया था कि वह बिस्तर से नहीं उठ सकी थी।

दिल्ली पुलिस ने श्रद्धा वालकर हत्याकांड में सबूतों की तलाश के लिए कई टीम को शुक्रवार को मुंबई, गुड़गांव और हिमाचल प्रदेश भेजा, जबकि दो साल से दोस्तों और सहकर्मियों के साथ पीड़िता की बातचीत से संकेत मिलता है कि उसे एक बार इतनी बुरी तरह पीटा गया था कि वह बिस्तर से नहीं उठ सकी थी।
इस बीच दिल्ली की एक अदालत ने नगर पुलिस को निर्देश दिया है कि महरौली हत्याकांड के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला का नार्को टेस्ट पांच दिन के अंदर पूरा कराया जाए।
अदालत ने यह भी स्पष्ट किया कि पूनावाला के विरुद्ध किसी ‘थर्ड डिग्री’ उपाय का प्रयोग नहीं किया जाए।
पुलिस ने पाया कि पूनावाला लगातार अपने बयान बदल रहा था, जिसके बाद अदालत ने बृहस्पतिवार को ‘ट्रुथ सीरम टेस्ट’ कराने की मंजूरी दे दी थी।
डेटिंग ऐप ‘बंबल’ जिस पर पूनावाला और वालकर की मुलाकात हुई थी, ने एक बयान जारी कर इस घटना को ‘‘अक्षम्य अपराध’’ बताया और पीड़िता के परिवार और प्रियजनों के साथ सहानुभूति व्यक्त की।
जब पीड़िता पूनावाला के साथ मुंबई के पास उनके गृहनगर वसई में रहती थी, तब व्हाट्सएप चैट से उसके साथ हुए दुर्व्यवहार के बारे में पता चला है। इसी तरह, वालकर की चोट के निशान वाली 2020 से पहले की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर सामने आईं।
जांच से जुड़े जांचकर्ताओं ने बताया कि पूनावाला के फोन को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा ताकि उन लोगों की पहचान की जा सके जो वालकर की हत्या के बाद उसके संपर्क में थे और उस डाटा को भी फिर से हासिल किया जा सके जिसे ‘डिलीट’ कर दिया गया था।
सूत्रों ने बताया कि पुलिस ने अब तक कुछ हड्डियां बरामद की हैं।
सूत्रों ने कहा कि पुलिस को अभी तक हड्डियां ही मिलीं हैं जो प्रथम दृष्टया मानव अस्थि जैसी लगती हैं।
पुलिस के अनुसार पूनावाला ने अपनी ‘लिव-इन पार्टनर’ श्रद्धा वालकर (27) की गत 18 मई की शाम को कथित तौर पर गला घोंट कर हत्या कर दी थी और उसके शव के 35 टुकड़े कर दिए। आरोपी ने शव के टुकड़ों को दक्षिण दिल्ली के महरौली में अपने आवास पर लगभग तीन सप्ताह तक एक बड़े फ्रिज में रखा तथा उन्हें कई दिनों तक विभिन्न हिस्सों में फेंकता रहा।
मुंबई से आने के बाद वालकर और पूनावाला ने कई जगहों की यात्रा की थी। पुलिस पूनावाला के साथ इन जगहों पर जायेगी, ताकि यह पता लगाया जा सके कि इन यात्राओं के दौरान तो उनके बीच कुछ ऐसा तो घटित नहीं हुआ था जिसके बाद हत्या को अंजाम दिया गया।
एक सूत्र ने कहा, ‘‘दिल्ली पुलिस द्वारा गठित दस विशेष दलों को उत्तराखंड में मुंबई, गुड़गांव, हिमाचल प्रदेश, देहरादून सहित कई स्थानों पर भेजा गया।’’
उसने कहा, ‘‘हम उन होटलों के मालिकों और कर्मचारियों से बात करेंगे, जहां वे दोनों हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में ठहरे थे और उनसे पूनावाला की पहचान करायेंगे।’’
इससे पहले दिन में दिल्ली पुलिस की एक टीम गुरुग्राम में उस निजी फर्म के कार्यालय पहुंची, जहां श्रद्धा वालकर की हत्या का आरोपी पूनावाला काम करता था। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि पुलिस को तलाशी अभियान के बाद कार्यालय के आसपास झाड़ियों से प्लास्टिक का एक थैला ले जाते देखा गया। हालांकि, अधिकारियों ने यह नहीं बताया कि थैले में क्या था।
अधिकारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस की एक टीम जांच के संबंध में साक्ष्य एकत्र करने के लिए शुक्रवार को गुरुग्राम पहुंची। उन्होंने बताया कि आरोपी के कार्यालय परिसर में यह पता लगाने के लिए भी तलाशी ली गई कि क्या उसने श्रद्धा के क्षत-विक्षत शव के टुकड़ों, वारदात में इस्तेमाल किया गया हथियार, या मामले से संबंधित कोई भी सामान आसपास के क्षेत्रों में फेंका था, जो जांच में महत्वपूर्ण साबित हो सकता हो।
मुंबई से उसके और वालकर के राष्ट्रीय राजधानी आने के बाद पूनावाला एक निजी फर्म में काम करता था।
अधिकारी ने कहा, ‘‘हमें पांच दिनों के भीतर नार्को टेस्ट कराना होगा और यह टेस्ट दिल्ली के आंबेडकर अस्पताल में किया जाएगा। वह विरोधाभासी बयानों से पुलिस को गुमराह कर रहा है और इसलिए उस पर लगे सभी आरोपों की जांच की जा रही है।’’
वालकर और एक परिचित के बीच कथित चैट के स्क्रीनशॉट से संकेत मिलते है कि वालकर घरेलू हिंसा का शिकार थी और उसने मदद मांगने के लिए अपने दोस्तों को संदेश भेजे थे।
चोट के निशान वाली उसकी पुरानी तस्वीरें भी सोशल मीडिया मंच पर सामने आईं, जिससे संदेह पैदा होता है कि उसके साथ मारपीट की गई थी।
बातचीत के दौरान कुछ संदेशों के आदान-प्रदान में कहा गया है, ‘‘मुझे लगता है कि मेरा बीपी लो है और मेरे शरीर में दर्द हो रहा है। एनर्जी नहीं बची है बेड से उठने की,’ और ‘मुझे यह भी सुनिश्चित करने की ज़रूरत है कि वह आज बाहर चला जाये।’’
संदेशों में कहा गया है, ‘‘जब आप थानस पहुंचें तो मुझे बताएं, डरो मत, हम सब आपके साथ हैं।’’
हालांकि, स्क्रीनशॉट की सत्यता की पुष्टि होनी बाकी है और यह जांच का हिस्सा है।
मुंबई पुलिस के अधिकारियों के अनुसार पूनावाला ने मुंबई के निकट किराये का मकान ढूंढने के दौरान वालकर को अपनी पत्नी बताया था।
एक स्थानीय पुलिस अधिकारी ने बताया कि वे दोनों वसई में किराये का एक फ्लैट ढूंढ रहे थे और इस दौरान पूनावाला ने वालकर को कई बार अपनी पत्नी बताया था, हालांकि उनकी शादी नहीं हुई थी।
इस बीच बंबल के प्रवक्ता ने कहा, ‘बंबल में हर कोई इस जघन्य अपराध के बारे में सुनकर सदमे में है, और हमारी सहानुभूति वालकर के परिवार और प्रियजनों के साथ हैं।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen + 7 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।